तेजस्वी ने कहा कि जैसा कि बिहार सरकार ने असमर्थता जताते हुए कहा है कि बाहर फंसे मज़दूरों को वापस लाने के लिए सरकार के पास बसें नहीं है. हम विपक्ष में रहते हुए भी बिहार सरकार को 2000 बसें सुपुर्द करने के लिए तैयार है.

सरकार स्वास्थ्यकर्मियों, प्रशासनिक और नोडल अधिकारियों की निगरानी में इन बसों का प्रयोग कर सकती है. बसें पटना में कब और कहां भेजनी है, कृपया बताया जाए.

विगत 15 सालों से सत्ता से चिपके असमर्थ-असहाय लोग कहते है कि बिहार सरकार के पास मात्र 500-600 बसें है. हम आपको गरीब मजदूरों की मदद के लिए उससे तीन गुणा अधिक बस सौंप रहे हैं. चूंकि यह राज्य सरकारों से संबंधित मामला है इसलिए आप इन बसों का अपनी निगरानी में केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों का अनुपालन करते हुए प्रयोग कर सकते है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *