बिहार राज्य में अभी रेलवे सुविधाओं के विस्तार के तहत तरह के प्रदेश के सात रेलवे स्टेशन को वर्ल्डक्लास का रूप जल्द ही दिया जाएगा। इसमें गया, राजेंद्र नगर टर्मिनल, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय, सीतामढ़ी, दरभंगा व बरौनी जैसे बड़े बड़े रेलवे स्टेशनों को विश्वस्तरीय बनाने की कवायद शुरू की जा चुकी है। बिहार राज्य के इन 7 स्टेशनों के साथ साथ झारखंड का धनबाद और उत्तर प्रदेश का पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन भी इन सभी योजना में शामिल किये गए है।

स्टेशन का पुनर्विकास इसी योजना के तहत 10 स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाया जायेगा। मिली जानकरी के अनुसार आपको बता दें कि इस जोन के करीब 10 स्टेशनों का पुनर्विकास कर के उन्हें विश्वस्तरीय सुविधाओं से युक्त किया जा रहा है। पहले से सबसे पहले गया, राजेंद्र नगर टर्मिनल, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय एवं सिंगरौली स्टेशनों को जल्द ही विश्वस्तरीय स्टेशन के रूप में विकसित करने की पहल को शुरू की जा चुकी है।

करीब 10 में से 7 स्टेशन तो बिहार राज्य के होंगे

स्टेशन पुनर्विकास योजना के तहत ही पूर्व मध्य रेल के कुल 10 स्टेशनों में से सात स्टेशन बिहार राज्य के शामिल किये गयी है। बिहार राज्य के स्टेशन जैसे की गया, राजेंद्र नगर टर्मिनल, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय, सीतामढ़ी, बरौनी और दरभंगा रेलवे स्टेशन को जल्द से जल्द अत्याधुनिक व विश्वस्तरीय रूप ने बनाया जाएगा। इसके साथ साथ में झारखंड राज्य का धनबाद और उत्तर प्रदेश का डीडीयू और मध्यप्रदेश का सिंगरौली रेलवे स्टेशन का नाम भी शामिल किआ गया है।

विश्वस्तरीय स्टेशनो जैसी होगी सुविधाएं

इन सभी स्टेशनों पर यात्रियों को संरक्षा, बेहतर एवं सुखद यात्रा का अनुभव के साथ साथ में विश्वस्तरीय यात्री की सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। इन सभी स्टेशन को ग्रीन बिल्डिंग का रूप दिया जा रहा है। जहां वेंटिलेशन की भी बेहतर सुविधा उपलध कराई जाएगी। इन स्टेशनों पर रेलवे की जमीन पर ही मॉल और मल्टीपर्पस बिल्डिंग का भी प्रस्ताव पारित किया गया है। इन सभी स्टेशन का विकास सौर ऊर्जा, ऊर्जा दक्षता उपकरण और ‘हरित इमारत’ मानकों को ध्यान में रखकर के बनाया जायेगा।