नेशनल डेस्कः शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का बीजेपी के साथ रिश्ता और बिगड़ता जा रहा है. कभी एक-दूसरे के सहयोगी रहे बीजेपी-शिवसेना के बीच वार-पलटवार का दौर चल रहा है. विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस और एनसीपी के सहयोगा से उद्धव ठाकरे पहली बार महाराष्ट्र के सीएम बने. ठाकरे इन दिनों बीजेपी और केंद्र सरकार से काफी नाराज हैं.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

दरअसल, शिवसेना विधायक प्रताप सरनाइक के घर पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का छापा पड़ा था. छापे से बौखलाए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. ठाकरे ने कहा कि उन्हें उनके पास जाने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए. उद्धव ने एक इंटरव्यू में मोदी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि शांत हूं, संयमी हूं लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि नामर्द हूं.

ये भी पढ़ेंः बूरे फंसे अमिताभ बच्चन पर बिहार में परिवाद दायर, KBC के जरिए हिंदू भावना आहत करने का लगा गंभीर आरोप

सुशांत मामले पर हुई सियासत पर बयान देते हुए कहा कि आप राजनीति करते हो? कितने निचले स्तर पर जाते हो? यह विकृति से भी गंदी राजनीति है. जिसे हम मर्द कहते हैं, वो मर्द की तरह लड़ता है. दुर्भाग्य से एक जान चली गई, उस गई हुई जान पर आप राजनीति करते हो? उस पर अलाव जलाकर आप अपनी रोटियां सेंकते हो?… यह आपकी औकात है?’

ये भी पढ़ेंः सुशांत की बहन ने इंसाफ के लिए फैंस से लगाई गुहार, खुला खत लिख कर बतलाई अपनी तकलीफ

बता दें कि शुक्रवार को उद्धव ठाकरे सरकार का एक साल पूरा हुआ है. ठाकरे का कहना है कि राज्य में जो राजनीतिक गतिविधियां हो रही हैं उन पर उनकी करीबी नजर है. उद्धव ठाकरे ने कहा कि केन्द्रीय एजेंसियों का देश में गलत इस्तेमाल किया जा रहा है.  ठाकरे ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि जिस तरीके से परिवारों को निशाना बनाया जा रहा है यह विपक्ष की बदले की राजनीति को जाहिर करता है.

Get Daily City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here