जेडीयू में पार्टी विलय पर उपेंद्र कुशवाहा को नीतीश देगें एक और इनाम, कुशवाहा समेत इन 6 चेहरे को भेजेंगे विधान परिषद

0
7

पटनाः बिहार में राज्यपाल कोटे से होने वाले एमएलसी के मनोनयन का रास्ता साफ हो गया है. इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अधिकृत किया गया है. इस बात का फैसला बिहार कैबिनेट की बैठक में लिया गया. इस बैठक में राज्यपाल कोटे से एमएलसी के दो नामों पर मुहर लगा दी गई थी जिसमें अशोक चौधरी और जनक राम का नाम शामिल था.

वहीं, अब राज्यपाल कोटे से जेडीयू की तरफ से एमएलसी कैंडिडेट का भी नाम सामने आ रहा है. जेडीयू कोटे से एमएलसी उम्मीदवारों के नाम तय किए गए हैं. इसमें पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा का नाम प्रमुख है. हालिया दिनों में ही उपेंद्र कुशवाहा ने आरएलएसपी का विलय जेडीयू में कराया है. इसके तुरंत बाद नीतीश कुमार ने उन्हें जेडीयू संसदीय बोर्ड का राष्ट्रीय अध्यक्ष भी बना दिया.

मंत्री अशोक चौधरी जायेंगे विधान परिषद

वहीं, अब उपेंद्र कुशवाहा को एमएलसी बनाये जाने पर भी नीतीश कुमार ने मुहर लगा दी है. नीतीश कुमार विधानपरिषद में अपनी अनुपस्थिति में उनके कद के एक नेता को भेजना चाहते थे जो विपक्ष को अच्छे तरीके से माकूल जवाब दे सके. इसमें उपेंद कुशवाहा फिट बैठते हैं. कुशवाहा के अलावे जिन नामों का चर्चा है उसमें मंत्री अशोक चौधरी, संजय सिंह, संजय गांधी, ललन सर्राफ, रामवचन राय का भी नाम शामिल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here