गुजरात के वडोदरा में रेप के आरोप में बगलामुखी मंदिर के संत प्रशांत उपाध्याय जेल में बंद है. वहीं, अब उसकी शिष्या दिशा जॉन ने राज उगलने शुरू कर दिए हैं. पुलिस के सामने दिशा ने कबूल किया है कि वो लड़कियों को तंत्र साधना के लिए प्रशांत के कमरे में भेजती थी.

प्रशांत उपाध्याय खुद को देवी का स्वरूप बताता था. उसके खिलाफ नाबालिग लड़की ने कई बार रेप करने की शिकायत दर्ज करवाई. इससे हरकत में आई पुलिस ने प्रशांत उपाध्याय को वडोदरा से गिरफ्तार किया था. वहीं, प्रशांत की साथी दिशा जॉन को अरेस्ट करते ही प्रशांत की कई करतूतें सामने आ रही हैं.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

पूछताछ में शिष्या ने उगले राज

पुलिस की पूछताछ में दिशा ने कुबूल किया है कि वह प्रशांत के कहने पर वह बच्ची को उसके बेडरूम में भेजा करती थी. प्रशांत मसाज करवाने का शौकीन था. इस दौरान पैर दबाने और मसाज के लिए गई अलग-अलग लड़कियों को रूम में बुलाता  और उनके वीडियो भी बनाता था.  दिशा जॉन की दो दिन का पुलिस रिमांड खत्म होते ही जेल में भेज दिया गया है.

ये भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ में शहीद हुए बिहार के लाल को अंतिम विदाई देने के लिए उमड़ा जनसैलाब, हर किसी की आंखे हो गई नम

वहीं, प्रशांत की दूसरी दो साधिका दीक्षा और उन्नति की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने दो अलग-अलग टीम का गठन किया है. जानकारी के मुताबिक शिकायत में नाबालिग लड़की ने दीक्षा और उन्नति जोशी का भी नाम लिया है. जो फिलहाल दुबई में हैं.

ये भी पढ़ेंः सन्यास के एलान के बाद नीतीश कुमार ने बुलाई कोर ग्रुप की बैठक, ले सकते हैं बड़ा फैसला

पीड़िता के मुताबिक जब उसके साथ घटना हुई तब वह उस समय मात्र 13 साल की थी. किसी को बताने में डरती थी. वहीं, उसका परिवार भी प्रशांत से काफी प्रभावित था. पीड़िता ने आरोप लगाया है कि प्रशांत ने 2013 से 2017 तक कई बार उसके साथ रेप किया. वहीं, जब हाल ही में जब एक अन्य लड़की ने प्रशांत के खिलाफ रेप और धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया तो उसे भी हिम्मत मिली. इसके बाद पुलिस ने मामले में सक्रियता दिखाई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here