भारतीय रेल द्वारा संचालित वंदे भारत एक्सप्रेस की सौगात अब बिहार के दो शहरों को मिलने वाली है।गौरतलब है कि राजधानी एक्सप्रेस के स्थान पर काफी आधुनिक एवं सुविधाजनक वंदे भारत एक्सप्रेस चलाई जा रही है। यह गाड़ी आम ट्रेनों की तुलना में काफी सुविधाजनक होती है। पूर्व मध्य रेल के अंतर्गत 10 वंदे भारत एक्सप्रेस चलाने की योजना है। इसमें उत्तर बिहार से भी दो ट्रेनें चलाई जाएंगी। इन ट्रेनों में यात्रा करने का एक सुखद एहसास होता है।

वंदे भारत एक्सप्रेस

बरौनी व समस्तीपुर रेल मंडल के सहरसा से वंदे भारत एक्सप्रेस चलाने की योजना

मिली जानकारी के अनुसार सोनपुर रेल मंडल के बरौनी व समस्तीपुर रेल मंडल के सहरसा से वंदे भारत एक्सप्रेस चलाने की योजना है। दोनों ट्रेनें मुजफ्फरपुर से गुजरेंगी। उत्तर बिहार से सेमी हाईस्पीड ट्रेन के रूप में वंदे भारत एक्सप्रेस चलने से यात्री 14 से 16 घंटे में उत्तर बिहार से दिल्ली पहुंच सकेंगे। फिलहाल, उत्तर बिहार से दिल्ली तक के सफर में 18 से बीस घंटे का समय लगता है। इसके लिए रेलवे लाइनों के नवीनीकरण व मेंटेनेंस के काम पर जोर दिया जा रहा है।

इसके लिए रूट में पड़ने वाले पुल-पुलियों की लाइन को भी अपग्रेड किया जा रहा है। सोनपुर रेल मंडल के अधिकारियों ने बताया कि पूर्व मध्य रेलवे से दस वंदे भारत एक्सप्रेस चलाने के लिए प्रस्ताव बना है। इसमें दो ट्रेनें उत्तर बिहार से दिल्ली व मुंबई के लिए है। इसके लिए सिंगल लाइन को तेजी से डबल किया जा रहा है।

वंदे भारत एक्सप्रेस में मेमू रैक का इस्तेमाल किया जाएगा। फिलहाल, मेमू रैक का इस्तेमाल स्थानीय स्तर पर पैसेंजर ट्रेन के अलावा महानगरों में मेट्रो ट्रेनों में होता है। मेमू रैक में अलग से इंजन की आवश्यकता नहीं होती है। इस ट्रेन में तीन जगहों पर ओएचई से बिजली आपूर्ति होती है। इससे ट्रेन आसानी से रफ्तार पकड़ लेती है। यह ट्रेन दोनों साइड से चलती है। अधिकारियों ने बताया कि आने वाले समय में भारतीय रेलवे में मेमू रैक का अधिक से अधिक इस्तेमाल के लिए तैयारी चल रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published.