0Shares

Vikramshila Setu : बिहार में विक्रमशिला सेतु के समानांतर पुल के निर्माण को लेकर सारी समस्याओं का हल निकाला जा चुका है। बारिश का मौसम जाने के तुरंत बाद ही इस पुल निर्माण का कार्य शुरू कर दिय जायेगा। इस पुल के निर्माण की जिम्मेदारी एसपी सिंगला को दी गई है। मिली जानकारी के अनुसार में गत शुक्रवार को सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय, नयी दिल्ली द्वारा टेंडर की वित्तीय बिड खोली गयी, जिसमें ठेका एजेंसी एसपी सिंगला को टेंडर मिला है। कुछ ही दिनों में उन्हें वर्क अवॉर्ड कर दिया जायेगा।

सुल्तानगंज-कहलगांव के बीच डॉल्फिन अभ्यारण्य क्षेत्र है। साथ ही संबंधित विभाग से गांगेय डॉल्फिन अभयारण्य का क्लीयरेंस भी ले लिया जायेगा। पुल का निर्माण इंजीनियरिंग प्रोक्योरमेंट कंस्ट्रक्शन मोड में होगा। जानकारी के अनुसार ठेका एजेंसी को 1460 दिनों यानी 4 वर्षों में पुल का निर्माण कराना होगा। पुल निर्माण का काम एजेंसी को टेंडर राशि से 3.75 प्रतिशत अधिक दर पर मिला है। इस पुल के बनाने में टेंडर राशि 958.38 करोड़ से 35.93 करोड़ अधिक यानी 994.31 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

Vikramshila Setu

Also Read : Flood In Bihar : बिहार में बाढ़ ने शूरू किया तबाही मचाना, रौद्र रूप ले रही नदियां, पलायन कर रहे लोग

Vikramshila Setu : टेंडर रद्द कर री-टेंडर किया गया

वहीं, वर्ष 2020 की टेंडर राशि 838 करोड़ से 156.31 करोड़ से बढ़कर 994.31 करोड़ हो गयी है, जबकि इससे पहले फरवरी, 2021 में लार्सन एंड टूब्रो के नाम से टेंडर फाइनल हुआ था, लेकिन भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण ने बताया कि पुल के स्पेन का फासला 100 मीटर नहीं था, जिस वजह से निर्माण पर रोक लगा दी गयी थी । 100 मीटर स्पेन के फासले की शर्त पर फोरलेन पुल के निर्माण के लिए चयनित एजेंसी भी अतिरिक्त राशि की मांग करने लगी थी।

हालांकि, मंत्रालय को यह कहा गया था कि 100 मीटर स्पेन पर डिजाइन कर पुल बनाने के लिए 400 करोड़ रुपये अधिक चाहिए। इस मांग को लेकर मंत्रालय ने 5 बार बैठक कराई, लेकिन इसके बाद भी सहमति नहीं बनने पर टेंडर रद्द कर री-टेंडर किया गया था। अलाइनमेंट में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

Leave a comment

Your email address will not be published.