मुंगेरः बिहार विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही सभी दल के विधायक अपने-अपने क्षेत्र में लगातार भ्रमण कर रहे हैं. कोरोना संक्रमण काल में भी नेताओं ने जनसंपर्क के जरिए क्षेत्र का दौरा शुरू कर दिया है. लेकिन इस बार कई सत्ताधारी दल और विपक्ष के मंत्री और विधायक को जनता के आक्रोश झेलने पड़ रहा है. कुछ ऐसा ही वाक्या नीतीश के मंत्री का हुआ, मजबूरन उन्हें वापस उल्टे पैर लौटना पड़ा.

ताजा मामला मुंगेर जिले के जमालपुरह का है, जहां क्षेत्र का दौरा करने पहुंचे नीतीश सरकार के मंत्री शैलेश कुमार को ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ा. यहीं नहीं, विकास कार्य को लेकर जनता और मंत्री जी के बीच में नोकझोंक भी हो गई. दरअसल, मंत्री शैलेश कुमार अपने कार्यकर्ताओं के साथ जमालपुर विधानसभा क्षेत्र के इंद्र रुख गांव पहुंचे, जहां मंत्री जी की जिला मुखिया संघ के पूर्व अध्यक्ष देवेश सिंह के पिता अशोक कुमार सिंह सहित अन्य ग्रामीणों से बातचीत होने लगी.

ग्रामीणों का मंत्री से हुआ बहस

बातचीत के दौरान गांव में सड़क, सिंचाई सहित अन्य समस्याएं दूर नहीं होने से नाराज ग्रामीणों ने मंत्री से नोकझोंक की. खासकर, सड़क नहीं बनने की वजह से मंत्री जी की जमकर क्लास ली. मंत्री जी की प्रतिक्रिया पर ग्रामीण और भड़क गए. ग्रामीणों ने मंत्री को कहा कि आपको घमंड हो गया है. विकास का कार्य करने के बजाय जातिवाद फैलाते हैं. इस बार यहां की जनता वोट नहीं देगी. इतना सुनते ही मंत्री जी उठे और वहां से बैरंग वापस लौट गए.

Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *