कैमूर: आगामी बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर प्रशासन मतदाताओं को वोटिंग बूथ तक लाने के लिए लगातार जागरूकता अभियान चला रही है. लेकिन कैमूर जिले में एक गांव ऐसा है, जहां से मतदाताओं को 1000 फीट ऊंची पहाड़ी से उतरकर मतदान करना होगा.

बता दें कि जिले के अधौरा प्रखंड अंतर्गत 100 से भी अधिक गांव हैं, जो 1000 फीट ऊंची पहाड़ी के उपर बसे हैं, लेकीन इस प्रखंड का इकलौता गांव विनोबानगर पहाड़ी के तलहटी में बसा है. नक्सल प्रभावित अधौरा प्रखंड के सभी गांव चैनपुर विधानसभा क्षेत्र में आते हैं. ऐसे में प्रशासन ने इस बार बड़वानकला के ग्रामीणों के मतदान के लिए दो बूथ पहाड़ के नीचे तलहटी में बसे विनोबानगर गांव में बनाया है.

सरकार नहीं दे रही कोई सुविधा
ग्रामीण ने बताया कि पहले हमलोग पहाड़ चढ़कर वोट देने जाते थे. लेकिन पिछले दो बार से वहां के लोग पहाड़ उतर कर विनोबानगर में वोट डालने आते हैं. उस गांव में जाने के लिये कोई रास्ता नहीं है. आजतक सरकार ने हमलोगों को कोई सुविधा नहीं दी. अपने पंचायत में जाने में पूरा दिन खत्म हो जाता है और 12 गांव के ग्रामीण पैदल पहाड़ उतर कर वोट देने आते हैं.

ये भी पढ़ेंः चुनाव में सोशल मीडिया का दुरूपयोग करने से पहले होशियार रहिए, वर्ना लेने के देने पड़ेंगे

मैदानी इलाके में मतदान कराने की मांग 
वहीं, ग्रामीण ने बताया कि वोट देने के लिए बड़वानकला जाना पड़ता है. मतदान स्थल पर जाने में काफी कठिनाई होती है. रास्ते में भी जंगली जानवर भी हैं, ऐसे में सरकार से लोगों ने मांग किया कि मैदानी इलाके में मतदान की सुविधा उपलब्ध कराने की मांग की है.

Get Daily City News Updates

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *