सन्यास के बाद बीसीसीआई के लिए काम करना चाहती हैं मिताली राज

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान व दिग्गज बल्लेबाज मिताली राज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। मिताली ने क्रिकेट करियर को अपनी जिंदगी के 23 साल दिए हैं और वे आगे भी क्रिकेट से दूर नहीं जाना चाहती हैं।

मिताली राज ने अपने फ्यूचर प्लांस को लेकर बात करते हुए एडमिनिस्ट्रेशन से जुड़े काम करने की इच्छा जताई है। मिताली ने कहा, इससे उन्हें अपने अनुभवों को इस्तेमाल करने का मौका मिलेगा। 

मिताली राज ने अपने फ्यूचर प्लांस को लेकर बात करते हुए एडमिनिस्ट्रेशन से जुड़े काम करने की इच्छा जताई है। मिताली ने कहा, इससे उन्हें अपने अनुभवों को इस्तेमाल करने का मौका मिलेगा। 

मिताली राज ने वनडे क्रिकेट में 8 विकेट भी लिए

मिताली राज ने अपने 23 साल के इंटरनेशनल करियर में 12 टेस्ट, 232 वनडे और 89 टी20 मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी की है। उन्होंने भारतीय माहीला क्रिकेट के तीनों ही फॉर्मेट में कुल 10, 868 रन बनाए, जिनमें 8 शतक शामिल हैं। मिताली ने वनडे क्रिकेट में 8 विकेट भी लिए है।

सन्यास के बाद पाहली बार एक इंटरव्यू मे मिताली राज ने कहा कि जिस तरह से ऑस्ट्रेलिया की बेलिंडा क्लार्क ने अपने अनुभव का प्रयोग रीटायरमेंट के बाद ऑस्ट्रेलियाई महिला क्रिकेट के लिए किया है | ठीक उसी तरह से मैं भी अपने 23 वर्ष के अनुभव का उपयोग बीसीसीआई के लिए कर सकती हूं।

मिताली ने करीब 23 वर्ष तक भारतीय टीम के लिए कई इंटरनेशनल मैच खेले हैं। इसलिए मिताली का अनुभव बीसीसीआई के लिए एक अच्छा कदम साबित हो सकता है।