भारतीय पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग का नाम लेते ही जहन में सबसे पहली याद उनकी तूफानी बल्लेबाजी की आती है। अपनी बल्लेबाजी से सहवाग ने कई बार टीम इंडिया की ऐतिहासिक जीतों में बड़ी भूमिका निभाई है। वीरेंद्र सहवाग के करियर में एक दिन ऐसा भी हुआ कि एक कोच ने वीरेंद्र सहवाग को उनकी परफॉर्मेंस को लेकर थप्पड़ जड़ दिया था। ये दिन सहवाग आज भी भूल नहीं पाए हैं।

वीरेंद्र सहवाग

वीरेंद्र सहवाग : आखिर हुआ क्या था ऐसा?

साल 2002 में वनडे सीरीज खेलने के लिए भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर गई थी। वनडे सीरीज में वीरेंद्र सहवाग का बल्लेबाजी प्रदर्शन कुछ खास नहीं दिखा। वो बार बार कम रन बनाकर आउट हुए जा रहे थे। इस बात पर इंडिया के तत्कालीन कोच जॉन राइट को सहवाग पर गुस्सा आ गया और उन्होंने सहवाग को एक थप्पड़ लगा दिया। बीसीसीआई के वाइस प्रेसीडेंट राजीव शुक्ला ने इसका खुलासा साल 2013 में किया था।

उधर, सौरव गांगुली को जब इस बात का पता चला तो गांगुली गुस्से से आगबबूला हो गए। गांगुली जॉन राइट को ढूंढने लगे। राजीव शुक्ला उस वक़्त इंडियन टीम के मैनेजर थे। सौरव गांगुली ने मैनेजर से कहा कि जॉन को इस बात के लिए सहवाग से माफी मांगनी पड़ेगी, जिसके बाद राजीव शुक्ला ने जॉन से इस बारे में बात की।

जब राजीव शुक्ला ने इस बात पर जॉन राइट से बात की तो, जॉन ने कहा, ‘मैंने केवल धक्का दिया है, थप्पड़ नहीं मारा है। वह बार-बार एक ही गलती दोहरा रहा था। मुझे उसकी गलती बर्दाश्त नहीं हो रही थी।’

दूसरी तरफ गांगुली एक ही बात पर अड़े हुए थे कि जॉन को सहवाग से माफी मांगनी पड़ेगी। फिर राजीव शुक्ला ने बताया कि उस वक़्त सचिन तेंदुलकर ने मुझे समझाया कि कुछ भी हो, लेकिन जॉन राइट माफी नहीं मांगेंगे। राजीव ने कहा मुझे सचिन की बात का मतलब समझ आ गया था। अगर कोच माफी मांगेगा तो बाकी का क्या होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.