CM Nitish Kumar oath ceremony
0Shares

साल 2022 चल रहा है, और एक बार फिर बिहार में सरकार बदल रही है। कल इस्तीफा देने के बाद आज नीतीश कुमार फिर से लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ. पर क्या रहेगा ख़ास इस बार।

बिहार में बीजेपी और जेडीयू का गठबंधन टूटने के बाद एक बार फिर से महागठबंधन की सरकार बनने जा रही है। और इसी सिलसिले में आज दोपहर दो बजे राजभवन में नीतीश कुमार मुख्यमंत्री और तेजस्वी यादव उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। वहीं भाजपा आज सभी जिलों में JDU द्वारा विश्वासघात के खिलाफ महाधरना करेगी. सुनने में है की ये धरना बड़े पैमाने पर होगा जो की तीन दिन चलने वाला है । और इसके बाद ब्लॉक स्तर पर भी आंदोलन किया जाएगा। भाजपा नेता नित्यानंद राय का सीधा प्रहार नीतीश पर.. कहना है की भाजपा ने उन्हें मुख्यमंत्री बनाया और अपने वचन को निभाया। वचन तोड़ने वाले धोखा और देने वाले को, बिहार की जनता सबक सिखाएगी।

इधर भाजपा सांसद सुशील मोदी ने भी कहा, यह सफेद झूठ है कि भाजपा ने नीतीश कुमार की सहमति के बिना आरसीपी सिंह को केंद्रीय मंत्री बनाया और वह JDU को तोड़ना चाहती थी।

इस बार बिहार में नीतीश के मंत्रिमंडल में कौन कौन रहेगा

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो, इस बार बिहार में नीतीश कुमार की नई सरकार में 35 विधायक मंत्री बन सकते हैं। जिनमें 16 आरजेडी, 13 JDU के हो सकते हैं जबकि एक हम,के और दो कांग्रेस के मंत्री बन सकते हैं। इससे साफ़ पता चल रहा है की इस बार भी नीतीश के मंत्रिमंडल में आरजेडी का ही दबदबा होगा। मंगलवार को बिहार में नई सरकार में कांग्रेस को चार मंत्री पद मिलने की संभावना बतायी जा रही है। सूत्रों के मुताबिक़ नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के तुरंत बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से बात की। जिससे समझा जा रहा है कि उन्होंने नई सरकार के गठन में समर्थन देने के लिए कांग्रेस नेतृत्व को धन्यवाद दिया। सूत्रों ने कहा कि चार मंत्री पदों के अलावा कांग्रेस ने राज्य विधानसभा के अध्यक्ष का पद भी मांगा है, लेकिन नीतीश कुमार इसे देने के इच्छुक नहीं हैं।

आज नीतीश कुमार आठवीं बार सीएम पद की शपथ लेंगे

जी हाँ नीतीश कुमार आज आठवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। लेकिन वहीँ उनकी इस सरकार का रूपरेखा और सहयोगी, सब बदले हुए होंगे। महज 45 विधायकों वाली उनकी पार्टी सत्ता में बनी रहेगी। विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी राजद के साथ कांग्रेस, वाम दल और जीतन राम माझी की पार्टी हम भी इस गठबंधन का हिस्सा होंगे।

ये भी पढ़ें:

हो गया खेला, नीतीश ने दिया इस्तीफा… महागठबंधन का नेता चुन लिया गया है

 नीतीश कुमार के आठ बार के शपथ को क्रमानुसार देखें

1. मार्च 2000
2.नवंबर 2005
3.नवंबर 2010
4.फरवरी 2015
5.नवंबर 2015
6.जुलाई 2017
7.नवंबर 2020
8.अगस्त 2022

तो बिहार में इस वक्त  गहरी हलचल चल रही है। RJD के तेजस्वी ने तंज कस्ते हुए कहा, की बीजेपी जहाँ होती है, वहां की विपक्षी पार्टी को ख़त्म करने लगती है. पहले RJD के साथ गठबंधन फिर बीजेपी के साथ चले गए और अब फिर RJD से हाथ मिला लिया. अब एहम सवाल यही है की क्या नया गठबंधन बिहार में बदलाव लेकर आएगा या ये राजनीतिक बदलाव फिर से बस कुर्सी बचाने का एक मौका ही साबित होने वाला है?

Hrichitwi Hrichi Sonali

Passionate Journalist

Leave a comment

Your email address will not be published.