0Shares

Bihar Government : बिहार में 72 हजार प्राथमिक स्कूल के विद्यार्थियों को सरकार की तरफ से रुपए दिए जाएंगे। साथ ही स्नातक उत्तीर्ण करीब 20 हजार छात्र-छात्राओं के अकाउंट में भी पैसे डाले जाएंगे।

15 जून के बाद आठवीं कक्षा तक के अध्ययनरत विद्यार्थियों को पुस्तकें खरीदने के लिए डीबीटी की तरफ से उनके अकाउंट में पैसा डालने का काम शुरू किया जाएगा। फिलहाल सभी जिलों को 15 जून तक मेघा सॉफ्ट पोर्टल नामांकित सौ-प्रतिशत विद्यार्थियों की डाटा एंट्री पूरा करने का आदेश बिहार शिक्षा परियोजना परिषद निर्देशक असंगबा चुबा आओ द्वारा दिया गया है। मौजूदा स्थिति में राज्य के विद्यालयों में गर्मी की छुट्टी की गई है। इसी बीच विद्यार्थियों के खाते में किताबें खरीदने के लिए रुपए भेजे जाएंगे। उसके बाद ही विद्यालय आरंभ होंगे।

Bihar Government

Also Read : बिहार में स्नातक उत्तीर्ण पौने दो लाख छात्राओं को प्रोत्साहन राशि के दिए जायेंगे 50-50 हजार रुपए

Bihar Government : 34 लाख विद्यार्थियों को पुस्तक की खरीददारी हेतु उनके अकाउंट में राशि डाली जाएगी

मौजूदा वर्ष में अध्ययनरत एक करोड़ 34 लाख विद्यार्थियों को पुस्तक की खरीददारी हेतु उनके अकाउंट में राशि डाली जाएगी। इस काम को पूरा करने के लिए शिक्षा विभाग ने सभी जिलों को 416 करोड़ 23 लाख रूपए मुहैया कराए हैं। मेधा सॉफ्ट पोर्टल पर नामांकित विद्यार्थियों के डाटा एंट्री की सहायता से ड्रापआउट होने वाले विद्यार्थियों की वास्तविकता की सूचना मिल सकेगी। विद्यार्थियों का डाटा पोर्टल पर वेरिफाई करने का आदेश निर्देशक असंगबा चुबा आओ ने दिए है। इससे लाभार्थी विद्यार्थियों को डायरेक्ट उनके अकाउंट में पैसे भेज दिए जायेंगे।

मौजूदा वित्तीय वर्ष 2022–23 में शिक्षा विभाग की ओर से स्नातक उत्तीर्ण होने वाले 20 हजार विद्यार्थियों को प्रेरणा राशि का भुगतान किया जाएगा। इस काम के लिए कुल 50 करोड़ रूपए पारित किए गए हैं। मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के अंतर्गत इस राशि को सभी जिलों में उपलब्ध कराया गया है। हालांकि, इस प्रोजेक्ट में कुल 250 करोड़ रुपये का बजट प्रास्तावित किया गया है। विभागीय उपसचिव अरशद फिरोज द्वारा इसकी सूचना दी गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published.