0Shares

Bihar News : देश का बिहार एकमात्र ऐसा प्रदेश हैं जो पूर्ण रूप से शराब बंद हैं, ऐसे बिहार का नाम काफी ऊँचा हुआ हैं लोगों के बिच खुशियाली दिखाई देती हैं। अब ऐसे समय में राज्य सरकार नीरा पेय को प्रमोट करने जा रही हैं, ऐसे में रोजगार को ध्यान में रखते हुए इस प्रोजेक्ट से हजारो जीविका दीदियों को इससे जोड़ा जा रहा हैं। साथ ही बड़े पैमाने पर इसके उत्पादन और पैकेजिंग का काम भी शुर हो चूका हैं।

Bihar News

Bihar News : प्रारम्भ हो गया कार्य

बिहार के नालंदा जिले के बिहार शरीफ के बाजार समिति परिसर स्थित कॉम्फेड द्वारा संचालित नीरा बॉटलिंग प्लांट में आज से नीरा की बॉटलिंग प्रारंभ हो गई है। ऐसे में पहले ही दिन दीपनगर, करियन्ना एवं इतासंग स्थित बल्क नीरा चिलिंग सेंटर से लगभग 1500 लीटर रॉ नीरा बॉटलिंग प्लांट में तीन रेफ्रिजरेटेड वाहनों से पहुंचा। प्राप्त नीरा को पाश्चुराइज करने के उपरांत 200 मिलीलीटर के लगभग 7500 नीरा के बॉटल तैयार किये जाएंगे।

इस प्लांट से बिहार में काफी लोगों के लिए रोजगार भी उपलब्ध होने जा रहे हैं, साथ ही जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने बुधवार को नीरा बॉटलिंग प्लांट का निरीक्षण किया। उन्होंने बॉटलिंग की पूरी प्रक्रिया के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी ली। ऐसे में इस प्लांट के जरिये प्रतिदिन 1500 लीटर नीरा को बॉटलिंग करने का लक्ष रखा हैं।

जिलाधिकारी ने डीपीएम जीविका को प्रतिदिन न्यूनतम 1500 लीटर नीरा की आपूर्ति बॉटलिंग प्लांट को सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। इस बॉटलिंग प्लांट की अधिकतम क्षमता 4000 लीटर प्रतिदिन की है। पाश्चराइजेशन के उपरांत बोतल में पैक कर नीरा का विक्रय नालंदा एवं पटना के विभिन्न क्षेत्रों में किया जाएगा। जिसके लिए वितरकों की नियुक्ति बिहार स्टेट मिल्क कोऑपरेटिव फेडरेशन लिमिटेड द्वारा की गई है। बता दें कि नीरा पेय एक प्राकृतिक पेय पदार्थ है जो ताड़ और खजूर से प्राप्त किया जाता है। इसका ताजा ताजा सेवन करना सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.