0Shares

Bihar News : आज इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे है कि बिहार सरकार राज्य के प्रमुख शक्तिपीठ गोपालगंज के थावे मंदिर का काया पलट करने कि तैयारी में है। इसके लिए सरकार का पर्यटन विभाग जोर शोर से तैयारियों में लगा हुआ है। पर्यटन विभाग के दिशा निर्देशों पर थावे मंदिर को बहुत ही दिव्य और भव्य बनाने के लिए प्रशासन की ओर से डीपीआर तैयार कर लिया गया है। सरकार ने इस निर्माण कार्य के लिए दो सौ करोड़ तक खर्च करने की भी तैयारी कर ली है।

Bihar News

Bihar News : बिहार के मुख्य शक्तिपीठ में से एक

थावे मंदिर बिहार का एक प्रमुख शक्तिपीठ है, और इसीलिए बिहार सरकार इसे प्रमुख पर्यटक स्थल के रूप में विकसित करने की तैयारी कर रही है। गोपालगंज जिला प्रशासन ने मंदिर का डीपीआर तैयार कर उसे मंजूरी के लिए पर्यटन विभाग को भेज दिया है, पर्यटन विभाग के मंत्री नारायण प्रसाद और सचिव संतोष कुमार मल्ल ने स्वयं थावे मंदिर की स्थिति को देखने और परखने के बाद उसे भव्य बनाने और एक प्रमुख पर्यटक स्थल के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया है।

यह मंदिर केवल बिहार के लिए ही नहीं, बल्कि हमारे पडोसी देशों नेपाल और उसके आलावा उत्तर प्रदेश एवं झारखंड के लाखों भक्तों के आस्था का प्रमुख केंद्र है। यहाँ मां सिंहासनी के दर्शन हेतु अलग-अलग जगहों से लाखों भक्त आते हैं। प्राचीन काल से ही मां सिंहासनी के प्रति भक्तों में अपार आस्था है, चैत रामनवमी से शुरू होने वाला यहां का ऐतिहासिक एक माह का मेला विख्यात है। ऐसा माना जाता है कि थावे में मां भक्त रहषु के बुलाने पर अत्याचारी राजा मनन सेन का नाश करने के लिए कामाख्या से चलकर थावे आईं और यहीं रुक गयीं।

Leave a comment

Your email address will not be published.