0Shares

Bihar News : आजकल बिहार की राजनीती में लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप का नाम काफी बढ़चढ़कर सामने आ रहा हैं, पिछले कई दिनों से तेज प्रताप कई दावे कर रहे हैं। कुछ दिन पहले तो उन्होंने RJD से इस्तीफा देने का ऐलान किया थाम, बाद में उन्होंने यूटर्न लिया फिर उन्होंने अपने भाई तेजस्वी के CM बनने का ऐलान किया था। जिसके बाद RJD को खंडन करना पड़ा था, फिर जाकर उन्होंने अपने जनशक्ति यात्रा का ऐलान किया।

Bihar News

Bihar News : खुद की पार्टी ने किया किनारा

लेकिन तेज प्रताप के इस जनशक्ति यात्रा से खुद उनकी पार्टी RJD ने किनारा किया हुआ हैं। लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने मई दिवस के अवसर पर पटना के बिहटा से अपनी जनशक्ति यात्रा शुरू की। आगे वे पूरे बिहार में जाएंगे। उनके इस अभियान से आरजेडी ने दूरी बना ली है। तेज प्रताप यादव ने यह यात्रा जनशक्ति परिषद (Janshakti Parishad) के बैनर तले शुरु की है।

ऐसे में इसके पहले चरण में वे पटना के बिहटा स्थित मखदुमपुर दलित बस्ती पहुंचे और वहां गरीबों के बीच कपड़े बांटे व उनका हाल-चाल जाना। तेज प्रताप की इस यात्रा को कई लोग आरजेडी से अलग होने की तरफ एक और कदम मान रहे हैं। खास बात यह है कि लालू के लाल की इस यात्रा को आरजेडी का समर्थन मिलता नहीं दिख रहा है। मजदूर दिवस के दिन तेज प्रताप यादव ने अपनी जनशक्ति यात्रा की शुरूआत की। इसके तहत वे पटना के बिहटा स्थित मखदुमपुर की दलित बस्ती में पहुंचे।

वहां उन्‍होंने दलित परिवारों से मिलकर उनमें वस्त्र वितरित किए और लोगों का दुख-दर्द जानने की कोशिश की। इस बीच उन्‍होंने केंद्र की दलितों-मजदूरों से जुड़ी योजनाओं की चर्चा करते हुए बताया कि दलितों के घरों में अभी भी गैस चूल्हा नहीं पहुंचा है। गरीबी भी चरम पर है। तेज प्रताप से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि वे आगे पूरे बिहार की यात्रा करेंगे। इसके माध्‍यम से वे हर जाति-धर्म के किसानों और मजदूरों से जुड़ेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.