0Shares

Bihar News : बिहार सरकार के मुख्य सचिव में सभी विभागों को प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने का आदेश दिया हैं, ऐसे में सभी सरकारी दफ्तरों में प्लास्टिक के उपयोग पर प्रतिबन्ध लगाया गया हैं। इसके अलावा जो प्रतिनिधि गुलदस्ता भेंट देते हैं उसमे भी प्लास्टिक इस्तमाल से मना किया हैं, ऐसे में आने वाले एक जुलाई से एकल उपयोग वाले प्लास्टिक पर पूर्णतः प्रतिबंध लाया जा रहा हैं। साथ ही केवल एक फूल देकर स्वागत करने की परंपरा सरकारी कार्यालयों में बढ़ाई जाने के निर्देश मिले हैं।

Bihar News : मुख्य सचिव ने जारी किये निर्देश

ऐसे में प्रदेश के मुख्य सचिव ने कहा हैं की प्लास्टिक या थर्माकोल से बनने वाले एक बार के उपयोग होने वाले चीजों का इस्तेमाल बंद हो। गुलदस्ते की जगह फूल दो और किसी को गुलदस्ता देना ही हो तो यह सुनिश्चित करे की उसमे प्लास्टिक ना हो, इसी के साथ मुख्य सचिव ने साफ कहा है कि सभी कार्यालय में कूड़े के निपटारे के पहले उन्हें अलग करने की व्यवस्था होनी चाहिए।

रिसाइकिल किये जाने वाले कूड़ों को दूसरे कूड़ों से अलग ही किसी अन्य पात्र में रखा जाए, ऐसे में आने वाले एक जुलाई से आम लोगों के लिए भी इस बात को लेकर प्रतिबंध लगा दिया जायेगा। वही आम लोगों से पहले सरकारी कार्यालयों में इस फैसले को सौ फीसदी लागु करने के आदेश दिए जा चुके हैं। इस मामले को लेकर प्रदेश के मुख्या सचिव आमिर सुबहानी ने राज्य सरकार के सभी विभागों को सभी दिशा निर्देश जारी कर दिया हैं।

सरकार के आदेश के बाद अन्य विभागों में इसपर पाबंदी की तैयारियां शुरू हो गई हैं। ऐसे में जुलाई से पहले ही प्रतिबंधित प्लास्टिक सामग्री की खरीद सरकार के सभी कार्यालयों में नहीं हो सकेगा। मुख्य सचिव के पत्र के अनुसार अब किसी भी सरकारी कार्यालय की बैठकों में प्लास्टिक के बोतलों वाले पानी का उपयोग नहीं हो सकेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.