0Shares

Bihar News : बिहार की राजधानी पटना में मौजूद राज्य के सबसे पुराने तारामंडल के कायाकल्प का कार्य शुरू हो गया है। गौरतलब है कि अब बिहार के दरभंगा में द्वारा तारामंडल भी बन कर तैयार हो चुका है।
अब पटना तारामंडल जाने पर यात्री बेहतर सुविधा, 3डी में फिल्में देखना, शानदार आरामदायक कुर्सी, एकॉस्टिक साउंड जैसी कई सुविधाओं का लुत्फ उठा पाएंगे। इससे पहले तारामंडल के वाटर प्यूरिफिकेशन और इंसुलेशन का काम किया गया था। इसके आधुनिकीकरण की जिम्मेदारी जर्मन कंपनी कालजाइज को सौंपी गई है।

Bihar News

Bihar News : इंटीरियर रिनोवेशन का काम शुरू

शनिवार को कोलकाता की ऑर्बिट आर्किटेक कंपनी की टीम ने इंटीरियर रिनोवेशन का काम शुरू कर दिया है। फिलहाल पुराने ऑडिटोरियम की फ्लोरिंग का काम किया जा रहा है। इसके बाद गैलरी सिटिंग और झुकावदार चेयर की सेटअप तैयार की जायेगी। इसके साथ ही लाइटिंग और एकूस्टिक साउंड ट्रीटमेंट का कार्य शुरू किया जायेगा। यह राज्य का पहला थ्री-डी प्लेटोरियम होगा, जिसमें दर्शकों को फिल्म देखने पर ऐसा एहसास होगा कि वे सौर मंडल के काफी करीब हैं।

जानकारी के मुताबिक कि नये तारामंडल में दर्शकों को छह प्रोजेक्टर के माध्यम से थ्री-डी आधारित सौर मंडल पर बनी वर्ल्ड क्लास फिल्में दिखायी जायेंगी। नये ऑडिटोरियम का पावर रूम ऑडिटोरियम के नीचे होगा और कंट्रोल पैनल भी ऑडिटोरियम के कोने में बनाया जा रहा है। इससे पहले ऑनलॉग सिस्टम डोम के बीच में रखी गयी थी। फ्लोरिंग के कार्य पूरा होने के बाद 15 दिनों के बाद सेटिंग आउट के बाद यह फैबरिकेशन का कार्य शुरू किया जायेगा। तारामंडल के आधुनिकीकरण का कार्य पूरा होने में एक साल से अधिक का समय लगेगा। रिनोवेशन वर्क के बाद यह तारामंडल काफी आधुनिक हो जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.