0Shares

Bridge Theft In Bihar : बिहार में भी पिछले महीने ही रोहतास जिले में लोहे का पुल चोरी होने का मामला सामने आया था जहां पूरी की पूरी पुल ही गायब हो गई थी। इस मामले में 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। अब ऐसा ही एक मामला बांका जिले में सामने आया है, जहां थोड़ा-थोड़ा करके पुल का बड़ा हिस्सा चोर उड़ा ले गए। घटना बांका के चानन प्रखंड स्थित कांवरिया बेली ब्रिज पुल की है। रोहतास और जहानाबाद के बाद पुल चोरी की यह तीसरी घटना है।

Bridge Theft In Bihar

Bridge Theft In Bihar : चोर गैस कटर से पुल काट रहे हैं

स्थानीय लोगों की माने तो चोर गैस कटर से पुल काट रहे हैं। वे पिछले तीन महीने से लोहे की चोरी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि चोर पुल के एक साइड को गैस कटर से काटते हैं। करीब आधे से अधिक हिस्सा काटकर चोरी कर ली गई है। हालांकि, इस मामले में अब तक किसी पंचायत प्रतिनिधि या अन्य लोगों ने पुलिस और प्रशासन को जानकारी भी नहीं दी है।

पुल के साइड और फुटपाथ का ज्यादातर हिस्सा गायब है। इस कारण अब उस पर पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। सीनियर अफसर मामले में जांच की बात कह रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कांवड़िया पथ के झाझा और पटनिया को जोड़ने वाले इस पुल का उद्घाटन 2008 में हुआ था। बाढ़ की स्थिति में श्रद्धालुओं को देवघर जाने के लिए इसी रास्ते से गुजरना पड़ता था। कावड़ियों को एक बड़े पोखर से गुजरना पड़ता था। पोखर के जलस्तर में वृद्धि होने से कई बार बड़े हादसे होते थे। करीब 10 साल से यहां पुल निर्माण की बात चल रही थी। इसके बाद कांवड़ियों की सुविधा को देखते हुए तत्कालीन जिलाधिकारी ने बेली ब्रिज के तौर पर इसका निर्माण कराया था। हालांकि नए पुल बनने के बाद इस पर आवागमन बंद हो चुका था।

बिहार सरकार के मंत्री संजय झा ने लोहे के ऐसे पुल जिन पर लोग आवागमन नहीं कर रहे थे उन्हें बेचकर राजस्व प्राप्त करने की बात कही थी। हालांकि उनका यह आइडिया उनसे पहले चोरों को पसंद आया और धीरे-धीरे वे पुल साफ करने लगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.