0Shares

बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के कई जिलों में एक बार फिर से गर्मी की वजह से लोग अपने घरों में बंद में रहने पर मजबूर हैं। बिहार के लोग और किसान भी अब मानसून का इंतजार कर रहे हैं। मौसम विभाग की तरफ से मिली जानकारी के अनुसार मानसून बिहार में जल्द ही एंट्री करने वाली है।

मानसून

प्री मानसून में पिछले पांच साल में सबसे कम बारिश

इस सीजन लगभग समय पर मानसून सीमांचल के रास्ते प्रवेश करने का अनुमान है। पूर्णिया मौसम केंद्र प्रभारी एसके सुमन के अनुसार 13 से 15 जून के बीच मानसून सीमांचल के किशनगंज अथवा पूर्णिया के रास्ते बिहार में प्रवेश करेगा। वहीं, वैज्ञानिकों ने इस सीजन सामान्य अथवा सामान्य से थोड़ी ज्यादा बारिश की उम्मीद जताई है। वहीं, इस बार प्री मानसून में पिछले पांच साल में सबसे कम बारिश रिकॉर्ड हुई है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि ग्लोबल वार्मिंग और प्रदूषण के कारण वर्षा के पैटर्न में बदलाव हुआ है।

उधर, मौसम विभाग की तरफ से अगले 24 घंटे के लिए बिहार के कई जिलों में बारिश होने की संभावना जताई गई है। बिहार के अररिया, किशनगंज, पूर्णिया में भारी बारिश और वज्रपात के लिए अलर्ट जारी किया गया है। वहीं, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, सीतामढ़ी, दरभंगा, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, भागलपुर में मूसलाधार बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

प्री-मानसून (मार्च, अप्रैल व मई) के सीजन में बारिश प्रभावित होने का असर मानसून के साथ-साथ खेती और किसानों पर भी पड़ने लगा है। हालांकि, इस बार अच्छी बारिश की भविष्यवाणी से किसानों की उम्मीद बढ़ी है तथा धान व खरीफ फसल के अच्छे उत्पादन की आस है।

Leave a comment

Your email address will not be published.