0Shares

Patna News : बिहार की राजधानी पटना में अब व्यापार करने वाले लोगों को सरकार की तरफ से मदद मिलने वाली है। कुछ ऐसे सेक्टर हैं, जिनमें व्यापार की इच्छा रखने वाले लोगों को सरकार आर्थिक मदद मुहैया कराएगी।

नगर विकास, आवास, चिकित्सा, शिक्षा और इवेंट मैनेजमेंट के क्षेत्र में उद्योग का अवसर मिल सकता है। परंपरागत हुनर को भी आर्थिक मदद मिल सकती है। वैसे तो 103 प्रकार के उद्योग का विकल्प दिया गया है लेकिन स्थानीय जरूरत के अनुसार कई नए क्षेत्र का चयन करने का मौका मिल सकता है। 10 लाख रुपए की लागत से व्यवसाय शुरू करने पर आपको सरकार की तरफ से 5 लाख का अनुदान मिलेगा।

गौरतलब है कि पटना के आसपास तेजी से नगरीय सुविधाओं का विकास हो रहा है। निर्माण के क्षेत्र में अब प्री फैब मेटिरियल की मांग बढ़ी है। पेवर्स ब्लाक, फ्लाई एश ब्रिक, कंक्रीट नाली, अल्युमिनियम खिड़की-दरवाजे और प्लास्टर आफ पेरिस का वाल पार्टिशन कम समय में मकान तैयार करने वालों की पसंद है। इस तरह के उद्योग 10 लाख रुपये की लागत में शुरू करने पर 5 लाख रुपये अनुदान मिलेगा। शेष राशि मात्र एक प्रतिशत सूद पर सात वर्ष में चुकाई जा सकेगी।

Patna News

Also Read : Bihar Weather : बिहार के पटना सहित दस जिलों में बारिश का ग्रीन अलर्ट

Patna News : उद्योग विभाग से 50 प्रतिशत अनुदान पर आर्थिक मदद

राजधानी को सड़कों की सौगात नए उद्योगों को अवसर दे रही है। अगर आप ढाबा, रेस्टोरेंट और टैक्सी का व्यापार शुरू करते हैं तो उसके लिए भी उद्योग विभाग से 50 प्रतिशत अनुदान पर आर्थिक मदद ली जा सकती है। यदि चाहें तो स्थानीय पर्यटन स्थलों की सैर कराने के लिए आप टैक्सी खरीद सकते हैं। इसके लिए भी आपको 50 प्रतिशत अनुदान मिलेगा।

शादी की सालगिरह, बच्चों का जन्मदिन और रिंग सेरमनी का प्रचलन आज के ज़माने में काफी बढ़ा है। पटना के साथ आसपास के इलाकों में इवेंट मैनेजमेंट का क्रेज बढ़ रहा है। शादी-विवाह के मौसम में ही नहीं बल्कि पूरे साल टेंट, पंडाल, कुर्सी, कैमरा और वीडियोग्राफी का अवसर मिल रहा है। इस क्षेत्र में भी युवा अनुदान ले सकते हैं।

युवतियों के साथ युवाओं में भी सजने, संवरने का चलन बढ़ा है। सैलून और ब्यूटी पार्लर में डिजाइनर बाल, फेशियल, नाखून और सौंदर्य के लिए लोग काफी पैसे खर्च करते हैं। इस क्षेत्र में आप कारोबार के अवसर का फायदा उठा सकते हैं। घर बैठे कसीदाकारी, बुटीक, आचार, अगरबत्ती, मच्छर भगाने के क्वायल सहित आटा-सत्तू उद्योग लगाने के लिए आर्थिक मदद ले सकते हैं। चांदी के जेवर सहित कम लागत में धातु के बर्तन उद्योग चुन सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.