0Shares

न्यूज़ डेस्क: बिहार के गृहणियों के लिए एक अच्छी खबर लेकर आया हूं। राज्य के कई शहरों में एक नया एलपीजी सिलेंडर मिल रहा है। आमतौर पर घरेलू सिलेंडरों के अंदर मौजूदा गैस की मात्रा को जानना काफी मुश्किल है जिसके कारण लोगों को काफी दिक्कत होती थी, लेकिन नए कमपोजिट सिलेंडर के आने के बाद उनकी सारी दिक्कतें भी समाप्त हो गई है। साथ इसमें गैस चोरी नहीं हो सकती और अगर ऐसा हुआ तो ग्राहक को तुरंत पता चल जाएगा।

हालांकि यह कमपोजिट सिलेंडर वर्तमान में बिहार के चुनिंदा शहरों में ही उपलब्ध है, लेकिन यह काफी प्रसिद्ध भी हो चुका है। वजह है इस सिलेंडर का वजन एवं इसकी पारदर्शिता। बताया गया है कि यह सिलेंडर वजन में वर्तमान में मिल रहे घरेलू सिलेंडर के मुकाबले काफी हल्का है एवं इसकी पारदर्शिता की वजह से लोगों को काफी सुविधा मिली है। कंपोजिट सिलेंडर 10 किलो और 5 किलो में उपलब्ध है।

2021 में हुई थी शुरुआत

आपको बता दें इस कमपोजिट सिलेंडर की शुरुआत सितंबर 2021 में की गई थी। वर्तमान समय की बात करें तो यह सिलेंडर बिहार के सिर्फ 5 जिलों में ही उपलब्ध था, जिनमें पटना, गया, नालंदा, बेगूसराय एवं आरा जिले का नाम शामिल है। इसी माह से आईओसी के डिविजनल एरिया ने टाउन एरिया से इसकी शुरुआत की है जिसके बाद अब हाजीपुर में भी यह कमपोजिट सिलेंडर उपभोक्ताओं को मिलने लगा है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हाजीपुर बिहार का छठवां शहर है जहां कंपोजिट सिलेंडर की शुरुआत की गई है।

LPG Composite Cylinder: कंपोजिट सिलेंडर की खासियत

कंपोजिट सिलेंडर ( Composite Cylinders ) की खासियत ( indane composite cylinder features)
ये सामान्य सिलेंडर्स की तुलना में काफी हल्के होते हैं। इनका वजन स्टील के सिलेंडर के मुकाबले करीब-करीब आधा है।
सिलेंडर का कुछ हिस्सा पारदर्शी है।
कंपोजिट सिलेंडर में जंग नहीं लगती है और फर्श पर कोई दाग या निशान नहीं पड़ता है।
इसका निर्माण तीन परतों से हुआ है। यह एक ब्लो-मोल्डेड हाई-डेंसिटी पॉलीइथाइलीन (HDPE) इनर लाइनर से बना है, जो पॉलीमर-रैप्ड फाइबर ग्लास (Fibre Glass) की एक परत से ढका है। साथ ही इसमें एक HDPE आउटर जैकेट फिट है।
इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि ये LPG सिलेंडर उन्हें आज की आधुनिक रसोई के लिए आकर्षक और आदर्श बनाते हैं।

उपभोक्ताओं की संख्या काफी कम

एक रिपोर्ट के मुताबिक पटना जिले में अभी कंपोजिट सिलेंडर के उपभोक्ता करीब 900 हैं जबकि कुल एलपीजी उपभोक्ताओं की संख्या 8.9 लाख है। जिले की कुल 70 एजेंसियों में कंपोजिट सिलेंडर की उपलब्धता रहने के बाद भी कंपोजिट सिलेंडर के उपभोक्ता अभी कम हैं। इसके प्रति लोगों को जागरूक होने की जरूरत है। 10 किलो वाले कंपोजिट सिलेंडर को 634 रुपये में रीफिल कराया जा सकता है। 10 किलो वाला सिलेंडर सिर्फ घरेलू गैर-सब्सिडी वाली कैटेगरी के लिए है, जबकि 5 किलो वाला सिलेंडर घरेलू गैर-सब्सिडी वाली श्रेणी के तहत फ्री ट्रेड LPG के जरिए मिलता है।

पुराने सिलेंडर को कैसे बदलें?

इंडेन ग्राहक अपने नजदीकी डीलरशिप के माध्यम से अपने पुराने Indane LPG गैस सिलेंडर को कंपोजिट स्मार्ट सिलेंडर ( Composite Cylinders) से आसानी से बदल सकते हैं। इसके लिए उन्हें पुराने सिलेंडर और नए सिलेंडर के बीच सुरक्षा जमा के अंतर का भुगतान करना होगा। इंडेन वितरक आपके दरवाजे पर स्मार्ट सिलेंडर पहुंचाएंगे। यदि ग्राहक पुराने LPG सिलेंडर को बदलना नहीं चाहते हैं तो वे इंडेन को सुरक्षा जमा के रूप में 10 किलो सिलेंडर के लिए 3350 रुपये या 5 किलो एलपीजी ( LPG ) सिलेंडर के लिए 2150 रुपये का भुगतान कर सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.