0Shares

बिहार के गया के विष्णुपद मंदिर में मंत्री इसराइल मंसूरी के प्रवेश के बाद गर्भगृह का शुद्धिकरण किया गया। मंदिर में गैर हिंदुओं के प्रवेश की मनाही है। सीएम नीतीश कुमार के साथ मुस्लिम मंत्री इसराइल मंसूरी सोमवार को मंदिर में पहुंच गए थे। इसके बाद दोपहर में भगवान को भोग लगाने से पहले मंदिर को धुलवाया गया।

गया में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विष्णुपद मंदिर में सोमवार को पूजा-अर्चना की। उनके साथ सूबे के सूचना प्रोद्यौगिकी मंत्री मो. इसराइल मंसूरी भी मंदिर में गए। मुख्यमंत्री के जाने के बाद मंदिर में गैर हिंदू के प्रवेश को लेकर चर्चा होने लगी। बाद में इसकी जानकारी श्री विष्णुपद प्रबंध कारिणी समिति के अध्यक्ष शंभुलाल विट्ठल और अन्य लोगों को मिली।

दोपहर में भगवान को भोग कराना था। ऐसे में मंदिर में धुलवा कर भगवान का भोग लगाया गया। शंभुलाल विट्ठल ने बताया कि मो. इसराइल मंसूरी नए मंत्री बने हैं। उन्हें कोई पहचानता नहीं था। ऐसे में उनके साथ रहे नेताओं-विधायकों को मंत्री को मंदिर के बारे में जानकारी देनी चाहिए थी। हम लोगों ने भोग लगाने से पहले मंदिर को धुलवाया है। बता दें कि गया के विष्णुपद मंदिर में गैर हिन्दु का प्रवेश वर्जित है।

मंसूरी के विष्णुपद मंदिर में प्रवेश पर सियासी बवाल

मंत्री इसराइल मंसूरी के प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर में प्रवेश करने पर बिहार मे ंराजनीतिक बवाल मच गया है। विपक्षी पार्टी बीजेपी नीतीश सरकार पर हमलावर हो गई है। बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद ने सीएम नीतीश कुमार से सार्वजनिक माफी मांगने की मांग की है। वहीं, बीजेपी विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल ने इसराइल मंसूरी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की है। वहीं, बीेजेपी प्रदेशाध्य़क्ष संजय जायसवाल ने इसे हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाला कृत्य करार दिया।

Leave a comment

Your email address will not be published.