0Shares

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच बिहार में स्वास्थ्य विभाग अब अलर्ट मोड पर आ रही है. इसे लेकर पटना जिले में भी तैयारियां तेज हो रही हैं. देश के कई राज्यों में हर दिन तीन से चार हजार संक्रमित मरीज मिलने लगे हैं. इसे लेकर अब पटना में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है.

बाहर से आने वाले लोगों के लिए जांच अनिवार्य
पटना में बाहर से आने वाले लोगों के लिए अब जांच को अनिवार्य कर दिया गया है. पटना एयरपोर्ट, पटना जंक्शन और दानापुर स्टेशन पर भी जांच टीम की संख्या बढ़ा दी गयी है. वहीं लोगों को भी लगातार जागरूक करते हुए सावधानी बरतने की अपील की जा रही है.

सब्जी मंडी व बस स्टैंड पर कोरोना जांच के निर्देश

पटना जिले में बीते 10 दिनों से प्रतिदिन पांच से 12 नए मरीज मिल रहे हैं. जिसको देखते हुए सिविल सर्जन के निर्देश पर अब शहर के मीठापुर, अंटाघाट, मुसल्लहपुर हाट आदि बड़ी सब्जी मंडियों में कोरोना जांच अनिवार्य कर दिया गया है. इसके साथ ही गांधी मैदान, बैरिया आदि बस स्टैंड पर भी कोरोना जांच अनिवार्य होगा.

यहां कोविड जांच के लिए स्वास्थ्य टीम का गठन कर आने-जाने वाले लोगों को टेस्ट करने के निर्देश जारी कर दिया गया हैं. इसके अलावा पटना जंक्शन, दानापुर रेलवे स्टेशन के अलावा एयरपोर्ट पर भी अतिरिक्त जांच टीम का गठन किया गया है. यहां अब दो-दो अतिरिक्त काउंटर पर जांच होंगे. जहां एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और टेक्नीशियन की टीम मौजूद रहेंगी.

जानिए क्या फिर से लगेगा LOCKDOWN? 

अभी तक ऐसी कोई अधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है। लेकिन अगर मामला फिर से ज़्यादा बढ़ा तो सरकार शायद ये कदम उठा सकती है।

संक्रमित राज्यों से आने वाले लोगों को सूचना देना अनिवार्य

पटना जिले की सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी सिंह ने बताया कि महाराष्ट्र में संक्रमण के मामले में काफी तेजी आयी है. बढ़ते मामले की आशंका को देखते हुए अब पटना में भी काम शुरू कर दिया गया हैं. उन्होंने बताया कि अभी भी राज्य में आपदा प्रबंधन विभाग के तरफ से कोविड नियमों का पालन करना अनिवार्य है. कुछ महीनों से संक्रमित मरीज नहीं मिलने के कारण इसमें ढील दी गयी थी, लेकिन अब दूसरे राज्यों में संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए पटना की पुरानी स्वास्थ्य जांच टीम को अलर्ट किया गया है एवं उनकी संख्या भी बढ़ा दी गयी है.

Leave a comment

Your email address will not be published.