0Shares

Air Travel : हवाई मार्ग के रास्ते यात्रा करने वाले लोगों के लिए अब सफर महंगा होने वाला है। हवाई जहाज में इस्तेमाल किए जाने वाले ईंधन, एविएशन टरबाइन फ्यूल (ATF) की कीमतों में 16.3% की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। इस वृद्धि के बाद दिल्ली में एटीएफ का दाम बढ़कर 1,41,232.87 प्रति किलोलीटर हो गया है, जिसका असर आने वाले दिनों में हवाई जहाज के किराए में देखने को मिल सकता है।

मिली जानकारी के अनुसार स्पाइसजेट के CMD अजय सिंह ने कहा कि एविएशन टरबाइन फ्यूल (ATF) की कीमतों में तेज उछाल और डॉलर के मुकाबले रुपये के गिरते भाव के कारण घरेलू एयरलाइंस के सामने जल्द से जल्द किराया बढ़ाने के अलावा कोई विकल्प ही नहीं बचा है। उन्होंने कहा कि हवाई किराये में कम से कम 10 से 15% के इजाफे की जरूरत है।

Air Travel

Also Read : Airport Authority of India : एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने निकाली कई पदों पर वेकेंसी

Air Travel : जून 2021 से अब तक एटीएफ की कीमतों में 120% का इजाफा

रूस और यूक्रेन युद्ध की वजह से कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी देखने को मिली है। एटीएफ की कीमतों में इजाफे की सबसे बड़ी वजह यही है। स्पाइसजेट के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर अजय सिंह बताते हैं, ‘जून 2021 से अब तक एटीएफ की कीमतों में 120% का इजाफा देखने को मिला है। यह भारी वृद्धि टिकाऊ नहीं है। केन्द्र और राज्य सरकारों को एटीएफ पर रखने वाले टैक्स में कटौती करने की जरूरत है।

कोविड-19 की वजह से पिछली कई तिमाही में घरेलू एयरलाइंस कंपनियों को भारी नुकसान झेलना पड़ा है। महंगे होते एटीएफ ने 30 से 40% तक का खर्च एयरलाइंस का बढ़ा दिया है, जिसका असर सीधे तौर मुनाफे पर पड़ रहा है। बता दें, लगातार एटीएफ की कीमतों में हो रहे इजाफे की वजह से लोकप्रिय रास्तों पर मई 2021 तुलना में मई 2022 में घरेलू हवाई सफर करने वाले लोगों को 50 से 75% अधिक किराया देना पड़ा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.