0Shares

पटना में तीन सालों में तीसरी बार ऑटो चालक अपने किराये में बढ़ोतरी करने जा रहे है. 30 मई से दो से तीन रुपये प्रति स्टाॅप तक ऑटो किराये में बढ़ोतरी हो जाएगी. इसी के साथ 15 से 20 फीसदी तक हर रुट में रिजर्व ऑटो किराया भी बढ़ेगा.

बिहार राज्य ऑटो रिक्शा टेंपू चालक संघ एक्टू के उपाध्यक्ष नवीन मिश्रा और पटना जिला ऑटो रिक्शा चालक संघ सीटू के महासचिव बिजली प्रसाद ने शनिवार को संयुक्त बयान देते हुए कहा है कि बीते दिनों पेट्रोल और सीएनजी की कीमत में होने वाली भारी बढ़ोतरी को देखते हुए यह निर्णय लिया जा रहा है. पिछले साल जून में भी ऑटो किराया में एक से दो रुपये प्रति स्टॉपेज की बढ़ोतरी ऑटो चालकों ने बिना आरटीए और परिवहन विभाग की मंजूरी के कर दी.

पटना

पटना : 26 मई को प्वाइंट टू प्वाइंट किराया सूची जारी

25 मई को विभिन्न ऑटो यूनियनों के साथ बैठक की जायेगी. 26 मई को प्वाइंट टू प्वाइंट किराया सूची जारी की जायेगी जो वर्तमान किराया से प्रति स्टॉपेज दो रुपये ज्यादा होगा जबकि रिजर्व ऑटो किराया में 15 से 20 फीसदी की बढ़ोतरी होगी. ऑटो किराया में सर्वाधिक तीन रुपये की बढ़ोतरी न्यूनतम किराये में होने वाली है.

नौ साल पहले आरटीए ने किया था आखरी बार किराया निर्धारण : परिवहन विभाग और क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकार ने अंतिम बार किराया निर्धारण नौ साल पहले वर्ष 2013 में किया था. इसके लिए परिवहन विभाग ने पेट्रोल ऑटो के लिए प्रति किमी तीन रुपये और डीजल ऑटो के लिए 2.5 रुपये का रेट तय किया था. इसी के अनुरूप आरटीए ने प्वाइंट टू प्वाइंट किराया तय किया था.

ऑटो चालकों के किराया वृद्धि के संबध में मेरे सामने अभी तक कोई प्रस्ताव नहीं आया है. आने के बाद उस पर प्रक्रियानुसार विचार किया जायेगा. ऑटो चालकों का खुद किराया निर्धारण परमिट की शर्तों का उल्लंघन है. ऐसा होने पर नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी. -राकेश कुमार, सचिव आरटीए

Leave a comment

Your email address will not be published.