0Shares

Bharat Gaurav Train : इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन की तरफ से संचालित श्रीराम से जुड़े धार्मिक स्थलों का भ्रमण कराने वाली विशेष ट्रेन भारत गौरव टूरिस्ट ट्रेन गुरुवार सुबह पौने ग्यारह बजे के करीब जयनगर स्थित नेपाली रेलवे स्टेशन पहुंची। ट्रेन जयनगर में करीब 40 मिनट तक रुकी। स्टेशन पर कस्टम क्लियरेंस के बाद करीब 11 बज कर 20 मिनट पर ट्रेन जनकपुर के लिए रवाना हो गई। 600 यात्रियों की क्षमता वाली भारत गौरव ट्रेन में विभिन्न राज्यों के कुल 481 यात्री सवार हैं। जनकपुर में यात्रियों का रात्रि विश्राम हुआ। साथ ही उन्होंने रामजानकी मंदिर एवं राम-सीता विवाह मंडप समेत अन्य स्थलों का दर्शन करने का सौभाग्य भी प्राप्त किया।

गौरतलब है कि गत 21 जून, मंगलवार को यह ट्रेन नई दिल्ली से सफदरगंज के लिए रवाना हुई थी। केंद्रीय पर्यटन, संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी ने रेल, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव के साथ दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। भारत गौरव टूरिस्ट ट्रेन में एक यात्री का किराया 62,370 रुपये है। इसमें लगभग 600 यात्रियों की क्षमता वाले 11 थर्ड एसी श्रेणी के कोच हैं। यात्रा के दौरान यात्रियों को एसी होटल में ठहराव की व्यवस्था की गई है। शाकाहारी भोजन के साथ ही यात्रियों की सुरक्षा व यात्रा बीमा का भी ध्यान रखा गया है। रेलवे की तरफ से जानकारी दी गयी है कि 17 रात और18 दिन वाली यह ‘भारत गौरव टूरिस्ट ट्रेन’ देश के 8 राज्यों में सफर करेगी, जहां भगवान श्री राम से जुड़े धार्मिक स्थल मौजूद हैं।

Bharat Gaurav Train : आठ राज्यों एवं पड़ोसी देश नेपाल का भ्रमण करेगी

ज्ञात हो कि यह ट्रेन अपनी यात्रा के दौरान दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश समेत आठ राज्यों एवं पड़ोसी देश नेपाल का भ्रमण करेगी। विभिन्न राज्यों में रामायण काल के अयोध्या, बक्सर, जनकपुर, सीतामढ़ी, काशी, चित्रकूट, नासिक, हम्पी, रामेश्वर, कांचीपुरम, भद्रांचल आदि स्थलों का श्रद्धालु भ्रमण कर पायेंगे।

थीम बेस्ड इस भारत गौरव टूरिस्ट ट्रेन में भारत और विदेशों के पर्यटक देश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और ऐतिहासिक स्थानों के दर्शन कर सकेंगे। भारत- नेपाल के बीच श्री राम यात्रा सर्किट पर चलने वाली ट्रेन की पहली यात्रा पहली बार जनकपुर (नेपाल में) के धार्मिक स्थल को भी कवर करेगी।

Bharat Gaurav Train

Also Read : Indian Railway : बेंगलुरु में बना देश का पहला एयर कंडीशन रेलवे स्टेशन, सुविधाएं भरपूर

इसके अलावा अन्य लोकप्रिय स्थलों जैसे अयोध्या, नंदीग्राम, सीतामढ़ी, वाराणसी, प्रयागराज, चित्रकूट, पंचवटी (नासिक), हम्पी, रामेश्वरम और भद्राचलम भी यात्रा में शामिल हैं। यह भारत- नेपाल के बीच राम यात्रा सर्किट पर 8,000 किमी की दूरी तय करेगी। IRCTC दुनिया की पहली एजेंसी है, जो देशों को जोड़ते हुए यात्रा की सुविधा दे रही है।

Bharat Gaurav Train : बोर्ड पर शाकाहारी भोजन परोसा जाएगा

दिल्ली के अलावा इस ट्रेन में अलीगढ़, कानपुर, टूंडला और लखनऊ से भी यात्री सवार हो सकेंगे। बोर्डिंग स्टेशन कोई भी हो टिकट की कीमत एक समान रहेगी। यात्रा की योजना में भोजन, आवास और गाइड सेवाएं शामिल हैं। बोर्ड पर शाकाहारी भोजन परोसा जाएगा।

ट्रेन के अंदरूनी हिस्से रामायण पर आधारित हैं। भारत गौरव ट्रेन, देखो अपना देश पहल के माध्यम से घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने का केंद्र सरकार का प्रयास है। रेल मंत्रालय द्वारा भारत गौरव ट्रेनों की अनूठी पहल, देश भर में बड़े पैमाने पर पर्यटन को बढ़ावा देने में सहायक होगी और देश के सभी हिस्सों के लोगों को देश के वास्तुशिल्प, सांस्कृतिक और ऐतिहासिक चमत्कारों के दर्शन का अवसर प्रदान करेगी। यात्रियों को ईएमआई विकल्प प्रदान करने के लिए आईआरसीटीसी ने पेटीएम और रेजरपे के साथ टाईअप किया है। पहले 50% यात्रियों को 5% अर्ली-बर्ड डिस्काउंट भी दिया जा रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.