0Shares

Indian Railway : बिहार और नेपाल के बीच प्रतिदिन यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या कम नहीं है। दोनों जगहों के बीच बस सेवा तो आसानी से मिल जाती है, लेकिन ट्रेन सेवा में काफी दिक्कतें हैं। ट्रेन से यात्रा करने पर समय एवं रुपए दोनो ही अतिरिक्त लगते हैं। हालांकि, अब बिहार से नेपाल जाने वाले यात्रियों के लिए रेलवे एक खुशखबरी लेकर आया है। वो ये कि अब बिहार के रक्सौल से काठमांडू तक नई रेल लाइन का निर्माण होने जा रहा है। इससे यात्रियों के लिए किराया भी कम हो जायेगा और साथ ही समय की भी बचत होगी।

Indian Railway

Indian Railway : रक्सौल से काठमांडू जाने के लिए बस या निजी वाहन ही एकमात्र विकल्प

रक्सौल से काठमांडू के बीच की दूरी सड़क मार्ग से करीब 150 किमी है। ट्रेन सेवा शुरू होने से दूरी घटकर 136 किमी हो जाएगी। अभी रक्सौल से काठमांडू जाने के लिए बस या निजी वाहन ही एकमात्र विकल्प है। बस का किराया करीब 600 रुपये (भारतीय मुद्रा) है, जबकि ट्रेन का किराया अधिकतम 200 रुपये हो सकता है। यात्रा का समय भी छह घंटे से घटकर दो से ढाई घंटे पर आ जाएगा।

मिली जानकारी के अनुसार यह परियोजना 16 हजार 550 करोड़ रुपये की है। इसके अंतर्गत 13 स्टेशन प्रस्तावित हैं। प्रस्तावित रेललाइन में रक्सौल, बीरगंज, बगही, पिपरा, धूमरवाना, काकड़ी, चंद्रपुर, धीयाल, शिखरपुर, सिसनेरी, सथिकेल और काठमांडू सहित कुल 13 स्टेशन होंगे। इसमें 32 रोड ओवरब्रिज, 53 अंडरपास, 259 छोटे पुल तथा 41 बड़े रेल पुल भी होंगे। 39 छोटी-बड़ी सुरंगों का भी निर्माण होना है, जिसकी कुल लंबाई 41.87 किलोमीटर है।

Leave a comment

Your email address will not be published.