0Shares

Indian Railways : जमालपुर-खगडिय़ा एकल रेल लाइन के दोहरीकरण की तैयारी में रेलवे बोर्ड जुट गया है। करीब 14 किमी लंबी रेल लाइन के निर्माण के लिए रेलवे ने स्वीकृति दे दी है। अब जल्द ही इस रेलवे लाइन के दोहरीकरण के लिये सर्वे का काम भी शुरू हो जायेगा।

रेलवे ने इस कार्य के लिए 28 लाख रुपये आवंटित कर दिये हैं। हालांकि, जमालपुर-खगड़िया रेलखंड के बीच में गंगा नदी पर पहले से ही श्रीकृष्ण सेतु बना है। जानकारी के अनुसार इस योजना में सेतु को भी शामिल किया गया है। यद्यपि, सेतु पर रेल लाइन एकल ही रहेगी।

रेलवे के अनुसार बताया जमालपुर से मुंगेर एवं खगड़िया दिशा से उमेशनगर के बीच लाइन का दोहरीकरण होगा। इसके बाद उमेशनगर के पास बरौनी-कटिहार रेल लाइन से जमालपुर रेल लाइन सीधे कनेक्ट होगी। रूट पर ट्रेनों की संख्या भी बढ़ेगी। इसके लिए रेलवे बोर्ड ने निर्माण विभाग को खत भी लिखा है।

Indian Railways

Also Read : Indian Railway : पटनावासियों के लिये भगवान राम के दर्शन हुए आसान, अयोध्या तक समर स्पेशल ट्रेन चलायेगा रेलवे, एक जुलाई से शुरू होगी यात्रा

Indian Railways : दोहरीकरण से रेलवे को बेहतर विकल्प मिलेगा

जमालपुर-खगड़िया रेल सेक्शन के दोहरीकरण से रेलवे को बेहतर विकल्प मिलेगा। अभी जमालपुर-खगडिय़ा मार्ग पर मालगाडियों का परिचालन अधिक होता है। सिंगल लाइन होने के कारण कई यात्री ट्रेनों व मालगाड़ियों को स्टेशनों पर रोक दिया जाता है।

ज्ञात हो कि जमालपुर-खगड़िया रेलखंड के रास्ते कोसी-सीमांचल, उत्तर बिहार, पश्चिम बंगाल और पूर्वी राज्यों की दूरी काफी कम है। इस रेलखंड को विकसित करने के लिये रेलवे कवायद कर रही है। रेलवे का मानना है कि आने वाले वर्षों में यह रेलखंड एक बेहतर कनेक्टिविटी प्रदान करेगा तथा राजस्व भी प्राप्त होगा। दोहरीकरण के बाद कई दिशाओं के लिए मेल एवं एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों की संख्या में वृद्धि हो सकती है। दोहरीकरण के बाद मालगाड़ियों एवं पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन सही समय पर हो सकेगा। इससे बिहार के विकास को नई रफ्तार भी मिलेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.