0Shares

Indian Railways : भारतीय रेल की तरफ से कई पुराने रेलवे ट्रैक पर परिवर्तन कर उन्हें हाई स्पीड ट्रेनों के चलने लायक बनाया जा रहा है। बिहार के अलग-अलग हिस्सों में लगातार रेल इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार हो रहा है। इसी कड़ी में सहरसा-सुपौल रेलखंड पर जल्द 100 की स्पीड से ट्रेन चलने लगेगी। संभावना है कि अगले एक से डेढ़ माह में सहरसा-सुपौल रेलखंड पर ट्रेन की स्पीड बढ़ जाए। गौरतलब है कि फिलहाल इस रेलखंड पर पैसेंजर ट्रेनों की रफ्तार काफी कम है।

Indian Railways

Indian Railways : स्पीड बढ़ने के बाद सफर आधे समय में तय हो जाएगा

ट्रेन की स्पीड बढ़ने के बाद सफर आधे समय में तय हो जाएगा। एक्सप्रेस ट्रेन सवारी गाड़ी के मुकाबले और भी कम समय पर पहुंच जाएगी। वर्तमान में सहरसा से गढ़ बरुआरी तक 70 और उससे आगे सुपौल तक 75 किमी प्रति घंटे की स्पीड से पैसेंजर ट्रेन चलती है। इस स्पीड में पैसेंजर ट्रेन को सहरसा से सुपौल पहुंचने में एक घंटे दस मिनट लग जाता है। रेल सूत्रों की माने तो स्पीड बढ़कर सौ हो जाने के बाद पैसेंजर ट्रेन मात्र 30 से 35 मिनट में सहरसा से सुपौल की दूरी तय करेगी।

उतना ही समय सुपौल से सहरसा आने में ट्रेन को लगेगा। ऐसे में सफर करने वाले यात्रियों के समय बचेंगे। खासकर दैनिक, नौकरीपेशा और कारोबार यात्रियों को फायदा होगा। कम समय में आवाजाही की सुविधा वे उठा पाएंगे। बता दें कि बीते शुक्रवार को सहरसा से सुपौल तक इंजन से स्पीड ट्रायल किया गया जो सफल रहा।

Leave a comment

Your email address will not be published.