0Shares

Railway : रेलवे बोर्ड ने बिहार समस्तीपुर बड़ी सौगात दी हैं, इसके लिए 20 करोड़ की लागत से एलएचबी कोच मेंटेनेंस वर्कशॉप बनाने की योजना है। समस्तीपुर में बिजली लोको शेड के बाद अब एलएचबी कोच का भी मेंटेनेंस हो सकेगा। इसके लिए 20 करोड़ की लागत से एलएचबी कोच मेंटेनेंस वर्कशॉप बनेगा। रेलवे बोर्ड ने इस प्रजोक्ट के लिए हरी झंडी दे दी है। इससे पहले LHB कोच को मेंटेनेंस के लिए गोरखपुर भेजना पड़ता था।

Railway

Railway : केंद्र ने दी मंजूरी

आपको बता दे की केंद्र की रलवे बोर्ड ने भी अब इसपर मुहर लगाई हैं। इससे पहले ट्रेनों में आईसीएफ कोच का उपयोग किया जाता था, लेकिन वर्तमान में 90 फीसदी ट्रेनों में आधुनिक एलएचबी कोच लगा दिए गए हैं। ऐसे में इन कोचों का मेंटेनेंस यहां नहीं हो पाने के कारण गोरखपुर भेजना पड़ता था। इस समस्या को दूर करने के लिए रेलवे बोर्ड ने यहां एलएचबी कोच मेंटेनेंस वर्कशॉप बनाने का निर्णय किया है।

यह वर्कशॉप सभी अत्याधुनिक तकनीक से लैस होगा, शुरू होने से पहले इसमें काम करने वाले सभी वार्केर्स को पूरी तरह की ट्रेनिंग दी जाएगी। विभागीय जानकारी के अनुसार वर्कशॉप समस्तीपुर जंक्शन के सिक्स लाइन के करीब बनाने की योजना है। जिसकी क्षमता एक बार में 30 कोचों के मेंटेनेंस की होगी। गौरतलब है कि पहले ही समस्तीपुर रेल डिवीजन मुख्यालय में डीजल शेड को विद्युत लोको शेड में परिवर्तित जा चुका है।

हालाकि उसके पीओएच के हेतु तीन वर्ष की वक्त सीमा निर्धारित की गई है। समस्तीपुर जंक्शन से सटे सिक लाइन के पास नए वर्कशाप बनवाने की स्वीकृति दे दी गई है। मंडल रेल प्रबंधक आलोक अग्रवाल ने भी उसकी पुष्टि की है। इस फैक्ट्री के चलते बिहार के लोगों के लिए रोजगार के कई नए अवसर भी पैदा होंगे जिसके चलते युवाओं में ख़ुशी की लहर उमड़ पड़ी हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.