0Shares

काशी के बाबा विश्वनाथ मंदिर संलग्न विवादित ज्ञानवापी मस्जिद में चल रहे सर्वे के तीसरे दिन हिन्दू पक्ष ने बड़ा दावा किया है। सर्वे के बाद मस्जिद परिसर से बाहर आए लोगों ने कहा ‘बाबा मिल गए।’ हिन्दू पक्ष के वकील ने तुरंत कोर्ट को इसकी जानकारी दी, जिसके बाद शिवलिंग मिलने वाली जगह पर कोर्ट ने किसी के भी प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दे दिए।

हिन्दू पक्ष का कहना है कि मस्जिद परिसर में प्राचीन शिवलिंग मिला है। उन्हें इस सर्वे में इतना कुछ मिला है, जितना उन्होंने सोचा नहीं था। कोर्ट के आदेश पर CRPF ने शिवलिंग मिलने वाली जगह को सील कर दिया है। कोर्ट ने कहा है कि अब उस जगह पर कोई भी मुसलमान प्रवेश नहीं करेगा सिर्फ 20 मुसलमानों को नमाज अदा करने की अनुमति दी गई है, लेकिन कोई भी इस जगह पर नहीं जाएगा जहां शिवलिंग मिला है।

ज्ञानवापी मस्जिद में मिले शिवलिंग को लेकर सोशल मीडिया और न्यूज़ वाले कई तरह के दावे कर रहे हैं। कोई कहता है शिवलिंग कुंए में मिला तो कोई कहता है तालाब में मिला।

ज्ञानवापी मस्जिद

ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर बने पुराने कुएं के अंदर शिवलिंग मिला

सोमवार को वीडियो सर्वे के तीसरे दिन जब टीम ने सर्वे किया तो उन्हें ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर बने पुराने कुएं के अंदर शिवलिंग मिला, जिसके बाद हिन्दू पक्ष के वकील हरिशंकर जैन ने कोर्ट को पत्र लिखकर शिवलिंग मिलने वाली जगह को प्रोटेक्शन देने की मांग की। कोर्ट ने कलेक्टर, एसपी, पुलिस कमिश्नर और CRPF कमांडेंट को आदेश दिया कि अब कोई भी शिवलिंग मिलने वाली जगह में प्रवेश नहीं कर पाएगा। इस जगह को संरक्षित किया जाए और सील किया जाए। सिर्फ 20 लोगों को मस्जिद के अंदर जाकर नमाज पढ़ने की इजाजत दी गई है।

यह स्पष्ट नहीं है कि ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर बने पुराने कुँए में मिला शिवलिंग कितना बड़ा है और कैसा दिखता है, लेकिन सोशल मिडिया में ऐसी चर्चा है कि सर्वे टीम ने बताया है कि परिसर में 12 फ़ीट ऊंचा शिवलिंग मिला है। ज्ञानवापी मस्जिद में मिले शिवलिंग की फोटो कोर्ट के आदेश पर शिवलिंग का वीडियो तो बनाया गया है, लेकिन उसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता है।

अबतक हुए सर्वे में कई तस्वीरें तो ली गई हैं, लेकिन एक भी सर्वे वीडियो या तस्वीर जारी नहीं हुई है। ऐसा करना कोर्ट के आदेश के खिलाफ होगा। तो ज्ञानवापी मस्जिद में जो शिवलिंग मिला है उसकी कोई तस्वीर इंटरनेट में मौजूद नहीं है। और सोशल मिडिया में दिखाई जा रही शिवलिंग की फोटो ज्ञानवापी मस्जिद की नहीं है।

Leave a comment

Your email address will not be published.