0Shares

मालदा मंडल के जमालपुर-किऊल रेलखंड स्थित मसूदन-अभयपुर स्टेशनों के बीच पहला मल्टी-माडल कार्गो टर्मिनल बनाने की पहल की जा रही है। केंद्र सरकार कार्गो परिवहन को बढ़ावा देने के लिए पीएम गति शक्ति योजना लेकर आई है। लायन शॉपिंग के दौर में कार्गो परिवहन की और भी अधिक आवश्यकता हो गई है। साथ ही व्यापारियों को अपना सामान मंगाने और भेजने के लिए बेहतर कार्गो परिवहन जरूरी है। इसके मद्देनजर रेलवे ने मालदा मंडल के जमालपुर-किऊल रेलखंड स्थित मसूदन-अभयपुर स्टेशनों के बीच पहला मल्टी-माडल कार्गो टर्मिनल बनाने का फैसला लिया है।

मल्टी-माडल कार्गो टर्मिनल

मल्टी-माडल कार्गो टर्मिनल के निर्माण की कवायद शुरू

पहले मल्टी-माडल कार्गो टर्मिनल के निर्माण की कवायद शुरू कर दी गई है। टर्मिनल बनाने के पीछे का उद्देश्य व्यापारियों को बेहतर सुविधा देना है। पूर्व बिहार के भागलपुर, बांका, लखीसराय, जमुई सहित दूसरे जिलों के भी व्यापारी सीधे कार्गो सेवा से ही अपना सामान मंगा सकते हैं। कंटेनर रखने के लिए टर्मिनल बनाया जा रहा है।

कार्गो टर्मिनल से कंटेनर के जरिए मुंगेर, लखीसराय, जमुई, खगडिय़ा के व्यापारी भी लोकल उत्पाद, परवल, मकई, दाल सहित अन्य खाद पदार्थ भेज सकते हैं। रेल से समान भेजने में व्यापारियों को सड़क परिवहन की तुलना में खर्च कम पड़ेगा।

पूर्व रेलवे के प्रधान मुख्य अभियंता एके दुबे कुछ दिन पहले अभयपुर स्टेशन का निरीक्षण करने पहुंचे थे। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कार्गो टर्मिनल के लिए जगह भी देखी थी। मसूदन-अभयपुर स्टेशनों के बीच टर्मिनल का निर्माण होगा। जगह चयन की रिपोर्ट जल्द ही रेलवे बोर्ड को भेज दी जाएगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.