0Shares

देश की लड़कियां आज के समय में लड़कों को पीछे छोड़ हर क्षेत्र में सफलता के झंडे गाढ़ रही हैं। बिहार में भी एक लड़की ने छोटी सी उम्र में मुखिया बन एक मिसाल पेश की है।

कई बार देखा जाता है कि बिहार की राजनीति में कोई भी अशिक्षित व्यक्ति चुनाव लड़कर लोगों का जनप्रतिनिधि बन जाता है। राजनीति में हमेशा से पढ़े-लिखे लोगों की कमी रही है, लेकिन इन सब के बीच सबसे कम उम्र की पढ़ी लिखी युवती मुखिया बनी है। बिहार में अब तक के सबसे कम उम्र की मुखिया बनने का रिकॉर्ड शिवहर प्रखंड के कुशहर पंचायत के अनुष्का कुमारी ने बनाया है।

अनुष्का कुमारी

अनुष्का कुमारी से जब उनकी जीत और इतनी कम उम्र में राजनीति में एंट्री को लेकर सवाल

अनुष्का कुमारी से जब उनकी जीत और इतनी कम उम्र में राजनीति में एंट्री को लेकर सवाल किए गए तो उन्होंने बताया है कि क्षेत्र में काफी समस्याएं हैं। इन समस्याओं और भ्रष्टाचार को दूर करने का मकसद ले वे राजनीति में उतरीं और पंचायत चुनाव लड़ा। अनुष्का ने कहा कि पंचायत की जनता ने भरोसा करके उन्हें जिताया है, वे उस भरोसे को कायम रखेंगी। अनुष्का ने हिस्ट्री ऑनर्स से बैचलर डिग्री हासिल की है और आगे भी पढ़ाई जारी रखना चाहती है।

नवनिर्वाचित मुखिया अनुष्का कुमारी अन्य युवाओं के लिए एक प्रेरणा हैं। अनुष्का ने बताया कि जिस भी क्षेत्र में आप काम करते हैं उस क्षेत्र में कड़ी मेहनत और लगन के साथ काम करना चाहिए। सफलता के पीछे आप नहीं सफलता आपके पीछे रहेगी। 21 साल की मुखिया अपने दादा को आदर्श मानती हैं। अनुष्का कुमारी पूर्व जिला परिषद सदस्य सुनील सिंह की पुत्री हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.