0Shares

बिहार के युवाओं में उस समय रोज़गार को लेकर काफी उम्मीद जगी थी जब विधानसभा चुनाव के दौरान तेजस्वी यादव ने बेरोजगारी के मुद्दे को जमकर उठाया था. हालांकि, उस समय वह सत्ता तक पहुंच नहीं सके थे लेकिन, अब चूँकि वह बिहार के उपमुख्यमंत्री बन गए हैं तो विपक्ष ने उन्हें और उनकी सरकार को 10 लाख नौकरियों को लेकर घेर लिया है. इतना ही नहीं अब नीतीश कुमार से भी इसको लेकर बहुत सवाल पूछे जा रहे हैं क्यूंकि उन्होंने RJD के साथ गठबंधन किया है.

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के 10 लाख के वादे के बारे में पूछे जाने पर कहा “यह सही है, हम कोशिश कर रहे हैं और हम अपनी पूरी कोशिश करेंगे. उन्होंने जो कहा है वह सही है. इसके लिए सभी प्रयास किए जाएंगे.”

नीतीश कुमार ने आगे कहा कि “हम चाहते हैं लोगों को अधिक से अधिक रोजगार मिले. पहले भी जितने वादे थे वह सब पूरे किए गए. आगे भी बिहार की जनता के लिए काम किया जाएगा”.

10 लाख नौकरियों को लेकर सरकार है गंभीर

दरअसल, तेजस्वी ने रोजगार के वादे को लेकर ट्वीट भी किया था। तेजस्वी यादव ने तब ट्वीट किया था कि बिहार में 4 लाख 50 हजार रिक्तियां पहले से ही हैं। शिक्षा, स्वास्थ्य, गृह विभाग सहित अन्य विभागों में राष्ट्रीय औसत के मानकों के हिसाब से बिहार में अभी 5 लाख 50 हजार नियुक्तियों की अत्यंत आवश्यकता है।

Hrichitwi Hrichi Sonali

Passionate Journalist

Leave a comment

Your email address will not be published.