0Shares

बिहार में सीएम नीतीश कुमार बीजेपी को लगातार झटका देने के मूड में नजर आ रहे हैं। पिछले दिनों सीएम नीतीश कुमार ने एनडीए सरकार से अलग होकर महागठबंधन की सरकार बनाई थी। अब सीएम नीतीश कुमार बीजेपी को दूसरा बड़ा झटका देने वाले हैं, जिसकी तैयारी शुरू हो गई है।

दरअसल, बिहार के अलावा जेडीयू बीजेपी को मणिपुर में भी समर्थन देती थी, लेकिन अब मणिपुर में जेडीयू बीजेपी से अपना समर्थन वापस लेने वाली है। वहां अभी फिलहाल बीजेपी की सरकार है और वह सबसे बड़ी पार्टी है। 60 सीटों वाली विधानसभा में भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन को 55 विधायकों का समर्थन प्राप्त है. इसमें जदयू के सात सदस्य शामिल हैं. यहां अगर पार्टी समर्थन वापस ले भी लेती है, तो यह सत्तारूढ़ गठबंधन की संख्या 48 होगी, जो बहुमत का आंकड़ा 31 से काफी ऊपर है।

वही, पार्टी की मणिपुर इकाई की जदयू के राष्ट्रीय नेताओं के साथ आगामी 3-4 सितंबर को पटना में होने वाली राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दौरान एक महत्वपूर्ण बैठक में इस पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। इस साल की शुरुआत में हुए राज्य चुनावों में भाजपा और जद (यू) गठबंधन में नहीं थे. मणिपुर इकाई के सूत्रों ने बताया कि चुनावों के बाद जदयू के सात विधायकों ने बीरेन सिंह सरकार को समर्थन दिया था, क्योंकि पार्टी एनडीए का हिस्सा थी।

Leave a comment

Your email address will not be published.