0Shares

बिहार की पिछली एनडीए सरकार में वन एवं पर्यावरण मंत्री रहे बीजेपी विधायक नीरज कुमार सिंह ‘बबलू’ पर आय छिपाने का आरोप लगा है। नीरज कुमार ने साल 2020 के विधानसभा चुनाव के दौरान निर्वाचन आयोग को दिए हलफनामे में अपनी संपत्ति से संबंधित जनकारी छिपाई। आयकर विभाग के स्तर पर हुई जांच में यह खुलासा हुआ है।

पूर्व मंत्री अब इनकम टैक्स विभाग के निशाने पर आ गए हैं। इनके पास एक करोड़ से ज्यादा की अघोषित संपत्ति मिली है। चुनावी घोषणा पत्र में उन्होंने इनका जिक्र नहीं किया है, जो अपराध की श्रेणी में आता है। उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो सकती है।

जानकारी के मुताबिक बीते चुनाव में उन्होंने जो चुनावी हलफनामा दायर किया था, उसमें वास्तविकता से कम संपत्ति दिखाई। नीरज कुमार ने हलफनामे के साथ साल 2020-21 का रिटर्न दाखिल किया था। इनकम टैक्स विभाग ने जांच में पाया कि उसमें संपत्ति को छिपाया गया। साथ ही उन पर पिछले आईटीआर में भी संपत्ति कम दर्शाने के आरोप लगे हैं। नीरज कुमार बबलू के वित्त वर्ष 2017-18 में 55 लाख 84 हजार, 2015-16 में नौ लाख 64 हजार, 2011-12 में करीब 25 लाख की अघोषित संपत्ति मिली है।

नीरज कुमार सिंह ‘बबलू’ सुपौल जिले के छातापुर से बीजेपी विधायक हैं। नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली पिछली एनडीए सरकार में उन्हें वन एवं पर्यावरण मंत्री बनाया गया था। इस महीने हुए सत्ता परिवर्तन से पहले तक वे मंत्री पद पर थे। अगर उनपर संपत्ति छिपाने के मामले में कार्रवाई होती है, तो भारी जुर्माना लग सकता है या फिर सजा भी हो सकती है।

Leave a comment

Your email address will not be published.