0Shares

सऊदी अरब में प्रवासी मज़दूर जाते हैं कमाने

सऊदी अरब में भारत के कई नागरिक कमाने जाते हैं. वहां रोज़गार पाकर वे अपने परिवार का पेट पालते हैं. परिवार से दूर रहकर हर मुश्किलों का सामना करके प्रवासी मज़दूर व कामगार भारत पैसा भेजते हैं ताकि उनके बच्चे, बूढ़े माँ बाप की ख्वाहिश पूरी हो सके. मगर बहुत बार ऐसा होता है कि भारत से या किसी भी देश के नागरिक काम के लिए सऊदी जाते हैं तो उनके साथ धोखा हो जाता है.

सऊदी में फंसे बिहारियों को मिली नौकरी

अभी भी कुछ ऐसा ही हुआ था जहाँ बिहार से सऊदी अरब गए 26 लोग वही फंस गए. दरअसल इमीग्रेशन अधिकारी ताबिशी बहल पांडे ने यह जानकारी दी कि बिहार के 26 लोग वहां जाकर फंस गए मगर विदेश मंत्रालय को खबर मिलते ही पहल किया गया और सऊदी अरब में फंसे लोगों से संपर्क किया गया। इन्हें काम के बहाने वहां ले जाया गया था। काम तो दूर वहां न रहने की व्यवस्था थी और न ही ठहरने की।

रमज़ान के कारण नहीं दिया गया था काम

हालांकि, इन लोगों को वहां ले जाने वाली रे ट्रेवल्स रिक्रूटमेंट एजेंसी का कहना है कि रमजान के कारण काम नहीं दे पा रहे थे। मगर अब फंसे बिहार के 17 लोगों को सऊदी में काम दे दिया गया है। वहीं, पांच लोग वापस अपने घर लौट गए हैं। समस्तीपुर निवासी एक व्यक्ति सऊदी अरब में ही दूसरी जगह चला गया है। मधुबनी निवासी दो लोगों को काम पसंद नहीं आया और एक वहीं रहना चाहता है। इन तीनों के लिए दूसरा काम ढूंढ़ा जा रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.