0Shares

महेंद्र सिंह धोनी का नाम क्रिकेट जगत के सफल कप्तानों में लिया जाता है। इस खिलाड़ी ने भारत को टी20 से लेकर वनडे वर्ल्ड कप और चैम्पियंस ट्रॉफी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

इस दौरान एमएस धोनी की कप्तानी में कई खिलाड़ियों को टीम इंडिया की तरफ से खेलने का मौका मिला था। इनमें 5 खिलाड़ी ऐसे भी रहे, जिन्होंने धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया में डेब्यू तो किया, लेकिन अब वह गुमनामी में जी रहे हैं।

महेंद्र सिंह धोनी को टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तानों में से एक माना जाता है। इन्होंने अपनी कप्तानी में कई खिलाड़ियों को मौका दिया और इनकी कप्तानी में ही कई उभरते सितारे सामने भी आये। वहीं, कई खिलाड़ी ऐसे भी थे जो नाकाम रहे। आइए जानते हैं उन खिलाड़ियों के बारे में, जिन्होंने धोनी की कप्तानी में डेब्यू तो किया, लेकिन इंटरनेशनल लेवल पर कमाल करने में असफल रहे।

महेंद्र सिंह धोनी

Also Read : Cricket World : क्रिकेट जगत के ये तीन कप्तान, जिनकी किस्मत ने मैदान पर बिल्कुल नहीं दिया साथ

ये है वो पांच खिलाडी जिन्होंने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में किया डेब्यू

मनदीप सिंह :

मनदीप सिंह ने आईपीएल में एक अलग ही पहचान छोड़ी थी। इन्होंने टीम इंडिया के लिए साल 2016 में एमएस धोनी की कप्तानी में जिम्बाब्वे के खिलाफ अपना डेब्यू किया था। जिम्बाब्वे के खिलाफ इस सीरीज में मनदीप सिंह को 3 मैच खेलने का मौका मिला, जिसमें इन्होंने 43.5 की औसत से 87 रन बनाये थे, लेकिन इस सीरीज के बाद से ही उन्हें फिर कभी टीम इंडिया में मौका नहीं दिया गया। मनदीप सिंह को आईपीएल में मौका मिला, जहां इन्होंने 108 मैच खेलकर 21.4 की औसत से 1692 रन बनाये।

बरिंदर सरन :

एमएस धोनी की कप्तानी में बरिंदर सरन ने टीम इंडिया के लिए अपना डेब्यू किया था। इन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना डेब्यू करने के बाद टीम इंडिया के लिए 6 वनडे और 2 टी20 मैच खेले थे। कुछ 8 मैच खेलने के बाद इन्हें फिर टीम इंडिया में मौका नहीं मिल पाया या यूं कहिए कि ये टीम इंडिया में अपनी जगह बरकरार रखने में कामयाब नहीं रहे। सरन ने 6 वनडे मैचों में 5.34 की इकोनॉमी रेट के साथ 7 विकेट तो वहीं टी20 में 2 मैचों में 5.12 की इकोनॉमी रेट के साथ 6 विकेट चटकाये थे। इसके अलावा इन्होंने आईपीएल के 24 मैचों में 18 विकेट अपने नाम किया।

मनप्रीत सिंह गोनी :

मनप्रीत सिंह गोनी ने टीम इंडिया के लिए अपने क्रिकेट करियर की शुरूआत महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में ही की थी। हालांकि इन्हें इंटरनेश्नल लेवल पर ज्यादा मौके नहीं मिले। इन्होंने टीम इंडिया के लिए 2 ही वनडे मुकाबले खेले थे जहां 5.84 की इकोनॉमी रेट से गेंदबाजी करते हुए 2 विकेट चटकाये थे।

वहीं इसके अलावा इन्हें आईपीएल में भी मौके मिले और साल 2008 से लेकर 2017 तक आईपीएल में इन्होंने 44 मैचों में 8.69 की इकोनॉमी रेट से 37 विकेट लिये थे। मनप्रीत सिंह टीम इंडिया में अपनी जगह बरकरार रखने में कामयाब नहीं हो पाये और इसी वजह से ये टीम से ही बाहर हो गये और साल 2019 में इन्होंने क्रिकेट से ही संन्यास ले लिया।

महेंद्र सिंह धोनी

फैज फजल :

फैज फजल ने MS Dhoni की कप्तानी में टीम इंडिया की तरफ से साल 2016 में डेब्यू किया था। इन्हें इंटरनेशनल लेवल पर मौके मिले ही नहीं और महज एक ही मैच खेलकर ये गुमनाम हो गये। इन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ अपना डेब्यू करते हुए पहले ही मैच में 55 रन बनाये थे। इसके अलावा इन्हें आईपीएल में भी ज्यादा मौके नहीं मिले। आईपीएल में फैज ने केवल 12 ही मैच खेले थे और 18.3 की औसत से 183 रन बनाये।

महेंद्र सिंह धोनी

अभिनव मुकुंद :

अभिनव मुकुंद भी उन्हीं खिलाड़ियों में से एक है जिसने MS Dhoni की ही कप्तानी में अपना डेब्यू किया था। इन्होंने साल 2011 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ अपना डेब्यू किया था। अभिनव मुकुंद भी टीम इंडिया के लिए ज्यादा मैच नहीं खेल पाये केवल 7 टेस्ट मैच खेलने के बाद ये टीम इंडिया के लिए गुमनाम हो गये।

मुकुंद ने इन 7 टेस्ट मैचों में 22.9 की औसत के साथ 320 रन बनाये थे। वैसे देखा जाये तो मुकुंद का प्रदर्शन इंटरनेश्नल लेवल पर कुछ खास नहीं रहा जिस वजह से वह टीम इंडिया में अपनी जगह को बरकरार नहीं रख पाये। आईपीएल में भी इन्हें मौका दिया गया और वहां भी ये लगभग फ्लॉप ही साबित हुए। अभिनव मुकुंद ने साल 2008 से लेकर 2013 के बीच महज 3 ही मैच खेल पाये और 9.5 की औसत के साथ केवल 19 रन ही बनाने में कामयाब रहे।

Leave a comment

Your email address will not be published.