0Shares

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज दीपक चाहर के स्वास्थ्य से जुड़ी अपडेट सामने आई है, जिसके मुताबिक उन्हें ठीक होने में अभी कम से कम एक महीने से ज्यादा का समय लगने वाला है। हालांकि, दीपक चाहर ने अपनी ट्रेनिंग का वीडियो भी सोशल मीडिया पर शेयर किया था। गौरतलब है कि इसी साल फरवरी में वेस्ट इंडीज के खिलाफ टी20 सीरीज के दौरान दीपक चाहर की मांसपेशियों में खिंचाव हो गया था, जिसके कारण वो सीरीज से बाहर हो गए थे।

इसके बाद बेंगलुरु में नेशनल क्रिकेट अकादमी में उनकी पीठ पर भी चोट आयी थी। इस वजह से जिसके चलते वे 2022 के पूरे आईपीएल सीजन में एक भी मैच नहीं खेल पाये। आईपीएल के दौरान सीएसके को दीपक चाहर की कमी खली थी। आईपीएल 2022 के मेगा ऑक्शन में दीपक चाहर को चेन्नई सुपर किंग्स ने 14 करोड़ रुपए में अपनी टीम का हिस्सा बनाया था।

दीपक चाहर

Also Read : जानिए कौन हैं दीपक चाहर की पत्नी जया भारद्वाज?

दीपक चाहर ने खुद कहा कि वह इंग्लैंड के खिलाफ T20 सीरीज के पहले ठीक नहीं हो पाएंगे

वहीं, दीपक चाहर ने खुद कहा है कि वह इंग्लैंड के खिलाफ T20 सीरीज के पहले ठीक नहीं हो पाएंगे। मीडिया से बातचीत करते हुए दीपक चाहर ने अपनी इंजरी के बारे में कहा है कि ‘मैं अपनी रिहैब कार्यक्रम के मुताबिक एक बार में 4 से 5 ओवर गेंदबाजी कर रहा हूं। मैं बहुत तेजी से ठीक हो रहा हूं और मुझे लगता है कि मैच के लिए फिट होने में अभी भी 4 से 5 हफ्तों का समय लग सकता है।’

चाहर ने आगे बताया कि ‘जहां तक रिकवरी का सवाल है, यह स्टेज बाई स्टेज एक प्रक्रिया है। मुझे नहीं लगता है कि मैं इंग्लैंड में टी20 सीरीज खेल पाऊंगा। एक बार मैं अगर मैच फिट हो गया तो अपनी फिटनेस जांचने के लिए क्लब स्तर के कुछ मुकाबले भी खेलने होंगे।’ वैसे दीपक चाहर को उम्मीद है कि वह वेस्टइंडीज दौरे में टीम का हिस्सा बन सकते हैं। उन्होंने कहा है कि ‘मैं साफ तौर से तो नहीं कुछ कह सकता, लेकिन मैं भरपूर कोशिश करूंगा कि वेस्टइंडीज दौरे तक फिट हो जाउं।’ भारत और वेस्टइंडीज के बीच आगामी 22 जुलाई से लेकर 7 अगस्त के बीच तीन वनडे मैचों और 5 टी20 मैचों की सीरीज खेली जानी है।

उधर, आईपीएल के इस सीजन में ऑलराउंडर वाशिंगटन सुंदर भी चोटिल हो गए थे और वह भी नेशनल क्रिकेट अकादमी में रिहैब कर रहे हैं। मिली जानकारी के अनुसार वाशिंगटन सुंदर पूरी तरह से फिट होने के करीब पहुंच गए हैं और उन्हें अपनी लय हासिल करने के लिए मैदान पर समय देने की जरूरत है, जो उसे सिर्फ लाल गेंद के क्रिकेट में मिलेगा। वह लंकाशायर के खिलाफ टीम का हिस्सा होंगे। इससे वह बेहतर स्थिति में रहेंगे।’

Leave a comment

Your email address will not be published.