0Shares

IND vs ENG : एजबेस्टन में भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गये पुनर्निर्धारित टेस्ट मैच के चौथे दिन विवाद की खबरें सामने आयी हैं। मिली जानकारी के अनुसार मैच के चौथे दिन भारतीय फैंस के साथ नस्लवाद जैसे व्यवहार का मामला सामने आया है। मामले के प्रकाश में आने के बाद जांच शुरु कर दी गई है। मैच के चौथे दिन कई भारतीय प्रशंसको ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी थी। वारविकशायर और ईसीबी इस मामले की जांच में जुट गया है।

एजबेस्टन ने जताया खेद
इस मामले के सामने आने के बाद यॉर्कशायर के पूर्व क्रिकेटर अज़ीम रफीक ने कुछ भारतीय फैंस के ट्वीट को रिट्वीट किया। पिछले साल अज़ीम रफीक की गवाही के बाद नस्लवाद के खिलाफ कई सख्त कमद उठाए गए थे और इनमें बड़े सुधार किए गए थे। अज़ीम रफीक ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘यह पढ़ कर निराश हूं।’ अज़ीम की इस बात का जवाब देते हुए एजबेस्टन के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल की तरफ से लिखा गया, “यह पढ़कर हमें बेहद खेद है और हम इस तरह के बर्ताव को माफ नहीं करेंगे। हम जल्द से जल्द इसकी जांच करेंगे।”

IND vs ENG

Also Read : रविश कुमार ने विराट कोहली को बताया था लोफर और नालायक क्रिकेटर, ट्विटर पर हुए थे जम कर ट्रॉल

IND vs ENG : एजबेस्टन के हेड स्टुअर्ट केन का बड़ा बयान

इस मामलें का संज्ञान लेते हुए एजबेस्टन के मुख्य स्टुअर्ट केन ने कहा, “इस तरह की खबरों से मै निराश हूं, क्योंकि हम एजबेस्टन को सभी के लिये सुरक्षित और स्वागत योग्य माहौल बनाने के लिये कड़ी मेहनत कर रहे हैं। शुरूआती ट्वीट देखने के बाद मैने यह मामले उठाने वाले व्यक्तियों से निजी तौर पर बात की और अब हम उस क्षेत्र में मौजूद कर्मचारियों से बात कर रहे हैं, जिससे कि पता चल सके कि क्या हुआ”।

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा, “एजबेस्टन में किसी को भी किसी भी तरह के दुर्व्यवहार का सामना नहीं करना चाहिये। इसलिये एक बार सभी तरह के तथ्य देखने के बाद हम सुनिश्चित करेंगे कि इस मुद्दे पर उचित एक्शन लिया जाये।”

ईसीबी ने जतायी की चिंता
इन आरोपों को देखते हुए इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने इस मामले पर चिंता ज़ाहिर की है। ईसीबी ने इस मामले पर ट्वीट कर लिखा, “आज के टेस्ट मैच के दौरान नस्ली दुर्व्यवहार की खबरें सुनकर हम बेहद चिंतित हैं। हम एजबेस्टन में अपने साथियों के संपर्क में हैं, जो इस मामले की जांच करेंगे। क्रिकेट में नस्लवाद की कोई जगह नहीं है।”

Leave a comment

Your email address will not be published.