0Shares

IPL 2022 : सोमवार को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में केकेआर और आरआर के बीच खेले गए मुकाबले में कोलकाता के बल्लेबाजों की धुआंधार पारियां देखने को मिली। कोलकाता की टीम ने टॉस जीत कर राजस्थान को पहले बल्लेबाजी के लिए बुलाया। राजस्थान की टीम ने कोलकाता के सामने 20 ओवरों में 5 विकेट के नुक़सान पर 152 रनों का लक्ष्य रखा।

जवाब में बल्लेबाज़ी करने उतरी कोलकाता की टीम ने 19.1 ओवर में ही 3 विकेट के नुक़सान पर 158 रन बना लिए और 7 विकेट से जीत दर्ज की। आइए जानते हैं मैच से जुड़े सभी तथ्यों के बारे में।

राजस्थान की टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। टीम का पहला विकेट युवा सलामी बल्लेबाज़ देवदत्त पडिक्कल के रूप में 7 रन के कुल स्कोर पर ही गिर चुका था। पडिक्कल ने केवल 2 रन बनाए। उमेश यादव की गेंद पर उन्होंने उन्हीं को कैच थमा दिया।

IPL 2022

IPL 2022 : संजू सैमसन ने 54 रनों की एक महत्वपूर्ण पारी खेली

राजस्थान के लिए कप्तान संजू सैमसन ने 54 रनों की एक महत्वपूर्ण पारी खेली। इसके अलावा शिमरन हेटमेयर की 27 रनों की और सलामी बल्लेबाज़ जोस बटलर की 22 रनों की पारी खेली। इसके अलावा राजस्थान के किसी भी बल्लेबाज़ का प्रदर्शन खास नहीं रहा।

कोलकाता की तरफ़ से गेंदबाज़ों में टिम साउदी ने 2 विकेट चटकाए तो वहीं उमेश यादव, अनुकूल रॉय और शिवम मावी ने भी 1-1 विकेट लिए।

कोलकाता को बल्लेबाजी

दूसरी पारी में लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम को भी शुरुआती 2 झटके 32 रन पर ही लग गए थे। हालांकि, कप्तान श्रेयस अय्यर और मिडल ऑर्डर बैट्समैन नितीश राणा ने स्थिति संभालते हुए तीसरे विकेट के लिए 60 रनों की मैच विनिंग साझेदारी की।

तीसरे विकेट की इस साझेदारी के बाद नितीश राणा ने पांचवें नंबर पर बल्लेबाज़ी करने आए रिंकू सिंह के साथ भी चौथे विकेट के लिए 66 रनों की निर्णायक और नाबाद साझेदारी की।

कोलकाता के लिए नितीश राणा ने 48 रनों की, रिंकू सिंह ने 42 रनों की तो वहीं कप्तान श्रेयस अय्यर ने 34 रनों की महत्वपूर्ण पारियाँ खेली। इन्हीं पारियों के दम पर कोलकाता ने लक्ष्य को 19.1 ओवर में ही हासिल कर लिया।

इस जीत के साथ ही कोलकाता को टूर्नामेंट की अंक तालिका में भी फ़ायदा हुआ है। टीम अब पंजाब किंग्स को पीछे छोड़ कर 8वें पायदान से 7वें पर पहुंच गई हैं। 10 मैच में से कोलकाता ने 4 जीते और 6 हारे हैं।

वहीं, दूसरी ओर पंजाब की टीम ने 9 मैच खेलने के बाद 4 जीते हैं तो वहीं 5 में हार का सामना किया है। प्वॉइंट बराबर होने के बावजूद नेट रन रेट कम होने की वजह से पंजाब को एक स्थान का नुक़सान कोलकाता की जीत के चलते उठाना पड़ा।

Leave a comment

Your email address will not be published.