0Shares

दुनिया के बेहतरीन क्रिकेट खिलाड़ियों की लिस्ट में शुमार भारतीय टीम के पूर्व कप्तान विराट कोहली अक्सर अपने शानदार बल्लेबाजी प्रदर्शन से फैंस का दिल जीत लेते हैं। हालांकि, पिछले कुछ सालों से किंग कोहली खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं।

खेल चाहे कोई भी है हर खिलाड़ी का कोई ना कोई लकी चार्म होता ही है। कई क्रिकेटर्स भी ऐसे हुई हैं जिनका इन सब बातों पर विश्वास था और वो कुछ ना कुछ ऐसा करते ही थे या फिर अब भी ऐसा ही है। टीम इंडिया व आइपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाड़ी विराट कोहली के साथ भी कुछ ऐसा ही है।

विराट कोहली

Also Read : 3 साल से एक भी शतक नहीं निकला विराट कोहली के बल्ले से

विराट कोहली भी अंधविश्वास में विश्वास रखते हैं

आपको यह जानकर काफी हैरानी होगी कि विराट कोहली भी अंधविश्वास में विश्वास रखते हैं। आपने अक्सर कोहली को मैदान पर सफेद जूतों में बल्लेबाजी के लिए उतरते हुए देखा होगा, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि कोहली ऐसा क्यों करते हैं? विराट कोहली ने एक बार खुद इस बात का खुलासा किया था। आइए जानते हैं क्या कहा था कोहली ने इस बारे में।

एक बार विराट कोहली ने इंग्लिश फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर सिटी के कोच पेप गुआर्डियोला से इंस्टाग्राम पर लाइव बातचीत की थी। इस दौरान उन्होंने बताया कि उन्हें सफेद जूतों में खेलना पसंद है, खासकर बल्लेबाजी करते समय। उन्होंने कहा कि “यह मेरे लिए अंधविश्वास सा है। जब मैं बल्लेबाजी करता हूं तो यह मेरी जोन होती है। यह वो समय है जो मेरे काफी करीब होता है।

लाइव बातचीत के दौरान कोच गुआर्डियोला ने कोहली के जूते बदलने के बारे में पूछा था, जिसके जवाब में कोहली ने कहा- “जब मैं बल्लेबाजी कर रहा होता हूं तो ये मेरा जोन और मेरा समय होता है कि मैं खुद के साथ रहूं और प्रदर्शन करूं। वहीं विराट ने भी पेप से पूछा था कि आपने भी अपने खेलने के दिनों में जूते का रंग बदला था। इसके जवाब में गार्डियोला ने कहा कि, जब मैं खेलता था तब मेरे सारे जूते काले थे। मुझे ऐसा लगा कि काले जूते को कैरी करना या खोजना जरा मुश्किल है तब मैंने लाल जूते पहनने शुरू किए। इसके बाद मेरी मां और मैनेजर ने मुझे सलाह दी कि मुझे फिर से काले जूते ही पहनने चाहिए।

Leave a comment

Your email address will not be published.